Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Indira Ekadashi 2021: इंदिरा एकादशी शुभ मुहूर्त , व्रत पारण का समय और जानें इसका महत्व

Indira Ekadashi 2021 : आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को इंदिरा एकादशी कहते हैं। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। ऐसी में इस दिन भगवान विष्णु की विधि विधान से पूजा की जाती है। वहीं पितृ पक्ष में आने से इंदिरा एकादशी का महत्व और भी बढ़ गया है। तो आइए जानते हैं इंदिरा एकादशी तिथि का शुभ मुहूर्त और व्रत पारण के समय और महत्व के बारे में...

Indira Ekadashi 2021: इंदिरा एकादशी शुभ मुहूर्त , व्रत पारण का समय और जानें इसका महत्व
X

Indira Ekadashi 2021: इंदिरा एकादशी शुभ मुहूर्त , व्रत पारण का समय और जानें इसका महत्व

Indira Ekadashi 2021 : आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को इंदिरा एकादशी कहते हैं। एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। ऐसी में इस दिन भगवान विष्णु की विधि विधान से पूजा की जाती है। वहीं पितृ पक्ष में आने से इंदिरा एकादशी का महत्व और भी बढ़ गया है। तो आइए जानते हैं इंदिरा एकादशी तिथि का शुभ मुहूर्त और व्रत पारण के समय और महत्व के बारे में...

ये भी पढ़ें : Indira Ekadashi 2021: इंदिरा एकादशी व्रत कथा सुनना है बहुत ही पुण्यकारी, एक क्लिक में जानें इसका फल

इंदिरा एकादशी 2021 शुभ मुहूर्त

  • हिन्दू पंचांग के मुताबिक आश्विन मास के कृष्ण पक्ष तिथि 01 अक्टूबर 2021, दिन शुक्रवार को रात 01 बजकर 03 मिनट से प्रारंभ हो रही होगी।
  • वहीं एकादशी तिथि का समापन 02 अक्टूबर 2021, दिन शनिवार की रात 11 बजकर 10 मिनट पर होगा। इसीलिए इंदिरा एकादशी का व्रत 02 अक्टूबर 2021, दिन शनिवार को रखा जाएगा।
  • इंदिरा एकादशी व्रत द्वादशी तिथि में होगा और व्रत पारण का शुभ समय 03 अक्टूबर सुबह 06 बजकर 15 मिनट से सुबह 08 बजकर 37 मिनट तक रहेगा।

ये भी पढ़ें : Indira Ekadashi 2021: इंदिरा एकादशी डेट और जानें पूजा के ये नियम

इंदिरा एकादशी महत्व

इंदिरा एकादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित है। एकादशी के दिन विधिपूर्वक भगवान विष्णु का पूजन किया जाता है। ऐसा करने से भगवान विष्णु की कृपा अपने भक्तों को प्राप्त होती हैं और ऐसा व्यक्ति सुख पूर्वक मृत्युलोक को त्यागकर विष्णु लोक को प्राप्त होती है। इंदिरा एकादशी का व्रत करने वाले व्यक्ति को 100 अश्वमेध यज्ञ के बराबर फल की प्राप्ति होती है। अगर नियम पूर्वक इस एकादशी व्रत को किया जाए तो व्यक्ति के जीवन से दुख-दरिद्रता और परेशानियों का नाश हो जाता है और ऐसे व्यक्ति को सभी प्रकार के सुखों की प्राप्ति होती है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story