Hari bhoomi hindi news chhattisgarh
toggle-bar

Holi 2021 : होलिका दहन के लिए होली कैसे बैठाएं और सजाएं

  • होली का पर्व (Holi festival) हिन्दू सनातन धर्म (Hindu Sanatan Dharma) का मुख्य पर्व है।
  • पर्व को पूरे भारत (India) में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है।

Holi 2022:  फाल्गुन पूर्णिमा कब है, जानें पूजाविधि और सुख-समृद्धि के उपाय
X

Holi 2021 : होली का पर्व (Holi festival) हिन्दू सनातन धर्म का मुख्य पर्व है। इस पर्व को पूरे भारत में ही नहीं बल्कि विदेशों में भी बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। और इस त्योहार को मनाने के लिए पहले से ही तैयारियां आरंभ हो जाती हैं। होली से कुछ दिन पहले होलिका दहन के लिए गुलरियां बनाई जाती हैं और होलिका दहन के दिन सभी लोग अपने-अपने घरों में छोटी-छोटी होलिका बनाते हैं और साथ ही शुभ मुहूर्त के दौरान अपने घर के बड़े बुजुर्गों द्वारा उस होलिका का दहन किया जाता है। तो आइए जानते हैं कि इस होलिका दहन के अवसर पर अपने घर होलिका कैसे बैठाए और साथ ही जानेंगे होलिका दहन के शुभ मुहूर्त के बारे में।

ये भी पढ़ें : बृहस्पतिवार के दिन करें ये अचूक उपाय बदल सकती है आपकी किस्मत

1. होलिका दहन के दिन आप सबसे पहले अपने घर के आंगन में थोड़ी सी जगह साफ करके वहां गंगाजल अथवा जल का छिड़काव करें।

2. जल का छिड़काव करने के बाद आप उस स्थान पर चौक पूर लें।

3. आप उस चौक के बीचों-बीच एक गन्ना गाड़ लें। अथवा किसी शुभ वृक्ष आदि की लकड़ी भी गाड़ सकते हैं।

4. इसके बाद आपने आपने जो गुलरिया की माला आदि बनाई हैं अथवा फुलेरा दूज के बाद उपले आदि बनाए हैं उस गन्ने अथवा लकड़ी के चारों तरफ अच्छे से सजा दें।

5. होलिका में आप किसी भी प्रकार का कचरा आदि बिलकुल भी ना डालें। केवल आम आदि की लकड़ी ही आप होलिका में लगा सकते हैं।

6. होलिका के चारों तरफ आप रंगोली जरुर बनाए। क्योंकि हिन्दू धर्म में चौक पूरने और रंगोली बनाने को बहुत शुभ माना जाता है।

ये भी पढ़ें : Shakun Shastra : ये शकुन होते हैं बहुत शुभ, देने हैं धन मिलने का संकेत


होली 2021 शुभ मुहूर्त (Holi 2021 Subh Muhurat)

होलिका दहन मुहूर्त शाम को 6 बजकर 37 मिनट से शुरू होकर रात के 08 बजकर 56 मिनट तक (28 मार्च 2021)

भद्रा पूँछ सुबह 10 बजकर 27 मिनट से सुबह 11 बजकर 30 मिनट तक

भद्रा मुख सुबह 11 बजकर 30 मिनट से दोपहर 01 बजकर 15 मिनट तक

पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ 03 बजकर 27 मिनट एएम (28 मार्च 2021)

पूर्णिमा तिथि समाप्त 12 बजकर 17 मिनट तक एएम (29 मार्च 2021)

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story