Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

इन लोगों से नाराज रहते हैं हनुमान जी, नहीं मिलती मां लक्ष्मी की भी कृपा

हनुमान जी एक मात्र ऐसे देवता हैं जो कलयुग में अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए तुरन्त पहुंच जाते हैं। अपने भक्तों के सारे संकटों को हरने वाले हनुमान जी अष्ट सिद्धियों के स्वामी हैं।

इन लोगों से नाराज रहते हैं हनुमान जी, नहीं मिलती मां लक्ष्मी की भी कृपा
X

हनुमान जी एक मात्र ऐसे देवता हैं जो कलयुग में अपने भक्तों की रक्षा करने के लिए तुरन्त पहुंच जाते हैं। अपने भक्तों के सारे संकटों को हरने वाले हनुमान जी अष्ट सिद्धियों के स्वामी हैं। वे अपने भक्तों की प्रत्येक मनोकामना पूर्ण करने वाले हैं। जो भी भक्त प्रतिदिन हनुमान चालीसा का पाठ करता है और श्रीराम का नाम जपता है उसके जीवन पर कभी बुरी और आसुरी शक्तियों का कोई प्रभाव नहीं पड़ता है। हनुमान जी चिरंजीवी हैं। उनको भगवान राम ने कलयुग के अंत तक पृथ्वी लोक में निवास करने का वरदान दिया है। इसलिए हनुमान जी अपने पूर्ण स्वरूप के साथ पृथ्वी पर मौजूद हैं। ऐसा भी बताया जाता है कि हनुमान जी ने साक्षात अपने कई भक्तों को दर्शन भी दिए हैं। और ऐसा माना जाता है कि जिस स्थान पर नित्य श्रीराम कथा का पाठ होता है वहां कथा सुनने हनुमान जी अवश्य आते हैं। हनुमान जी जिस तरह भक्तों की रक्षा करते हैं उसी प्रकार वे दुष्टों को दंड भी देते हैं। प्राचीन धर्मग्रंथों के अनुसार कुछ काम ऐसे हैं जिनके करने से व्यक्ति हनुमान जी की कृपा से वंचित रह जाता है। और उन व्यक्तियों को कलयुग का पापी माना गया है। जो भी स्त्री अथवा पुरूष ऐसे कार्य करता है तो वह हनुमान जी को कभी प्रसन्न नहीं कर सकता है। ऐसे व्यक्ति को हनुमान जी दंड का पात्र समझते हैं। तो आइए जानते हैं ऐसे ही कुछ कामों के बारे में जिनको करने वाले स्त्री-पुरूष से हनुमान जी सदैव नाराज रहते हैं। और ऐसे घर में ना तो मां लक्ष्मी का वास होता है और ना ही हनुमान जी का वास ही होता है। और ऐसे स्थान पर रहने वाले व्यक्ति के घर में भी सदैव दरिद्रता आती है।

1. जिस घर के लोगों का कोई आराध्य नहीं है और जो लोग प्रभु पर विश्वास नहीं करते हैं तथा जहां सदैव ही ईश्वर का अपमान किया जाता है ऐसे घर में रहने वाले लोगों पर हनुमान जी कभी कृपा नहीं करते हैं। जहां पर श्रीराम का अपमान किया जाता है, ऐसे दुष्टों को दंड का पात्र ही समझा जाता है।

2. जिस घर के सदस्य सदा मांस और शराब का सेवन करते हो, ऐसे घर से देवी लक्ष्मी चली जाती हैं। ऐसे घर में रहने वाले लोग सदा दरिद्र ही रहते हैं। शास्त्रों के अनुसार जिस घर के लोग रोज मांस खाते हों अथवा शराब का सेवन करते हैं, ऐसे लोगों को हनुमान जी की कभी कृपा नहीं मिलती है।

3. जिस घर में महिलाओं के साथ दुर्व्यवहार किया जाता है, जहां पर पुरुष अपनी मर्दानगी दिखाने के लिए महिलाओं पर हाथ उठाते हैं अथवा रोज उनके साथ मारपीट करते हैं। ऐसे व्यक्ति को हनुमान जी दंड का पात्र समझते हैं। मृत्यु के बाद तो ये लोग नरक में जाते ही हैं। लेकिन अपने कर्मों की सजा मृत्यु लोक में रहते हुए भी भुगतते हैं।

4. जिस घर में रहने वाले परिवार के लोगों के बीच में एकता ना हो, भाई-बहनों में सदा झगड़े होते हों, ऐसे घर में रहने वाले लोग कभी सुखी नहीं रह सकते। और हनुमान जी व मां लक्ष्मी की कृपा से वंचित रह जाते हैं। जिस प्रकार राम, लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न इन चारों भाईयों के बीच में प्रेम तथा सम्मान था। उसी प्रकार परिवार में एक-दूसरे के प्रति मान-सम्मान और प्रेम होना आवश्यक है।

और पढ़ें
Next Story