Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Guru Purnima 2021 : गुरु पूर्णिमा के अवसर पर अपने जीवन में तरक्की लाने के लिए करें इन चीजों का दान

  • जानें, गुरु पूर्णिमा की विशेष बातें
  • जानें, गुरु पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त
  • जानें, गुरु पूर्णिमा का महत्व

Guru Purnima 2021 : गुरु पूर्णिमा पर क्या दान करना चाहिए, जिसे आपके जीवन में खुल जाएं तरक्की के द्वार, जानें...
X

Guru Purnima 2021 : गुरु पूर्णिमा पर क्या दान करना चाहिए, जिसे आपके जीवन में खुल जाएं तरक्की के द्वार, जानें...

Guru Purnima 2021 : गुरु पूर्णिमा का पावन पर्व पंचांग के अनुसार 24 जुलाई 2021 दिन शनिवार यानी आज है। प्रत्येक साल आषाढ़ मास में शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को गुरु पूर्णिमा का पर्व मनाया जाएगा। तो आइए जानते हैं कि गुरु पूर्णिमा पर क्या दान करें।

गुरु पूर्णिमा का पर्व जीवन में सुख-समृद्धि और शांति लेकर आता है। इस दिन गुरुजनों का आदर और सम्मान कर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है। हिन्दू धर्म में गुरु का स्थान भगवान से भी बड़ा माना जाता है। कहा जाता है कि गुरू ब्रह्मा गुरू विष्णु, गुरु देवो महेश्वरा गुरु साक्षात परब्रह्म, तस्मै श्री गुरुवे नमः। अर्थात गुरु ज्ञान का कारण होते हैं। बिना गुरु के ज्ञान की प्राप्ति संभव नहीं होती है।

ये भी पढ़ें : Guru Purnima 2021 : गुरु पूर्णिमा कब है, जानें शुभ मुहूर्त, महत्व और कथा

गुरु पूर्णिमा शुभ मुहूर्त 2021 (Guru Purnima Shubh Muhurat 2021)

गुरु पूर्णिमा तिथि : 24 जुलाई 2021, दिन शनिवार

पूर्णिमा तिथि प्रारंभ : 23 जुलाई 2021, 10:43 AM

पूर्णिमा तिथि समाप्त : 24 जुलाई 2021, 08:06 AM

पंचांग के अनुसार, 24 जुलाई को सर्वार्थ सिद्धि योग में गुरु पूर्णिमा मनायी जाएगी। इस दिन गुरु पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त दोपहर 12:40 बजे से आरंभ होगा और उसका समापन 25 जुलाई को प्रात: 05:39 मिनट पर होगा।

गुरु पूर्णिमा पर गुरुओं की पूजा की जाती है। गुरु पूर्णिमा से ही वर्षा ऋतु आरंभ होती है। तथा आषाढ़ मास का समापन होता है। इसके बाद सावन का पवित्र महीना आरंभ हो जाता है। इसलिए गुरु पूर्णिमा पर क्या दान करना चाहिए इसका महत्व बहुत ही अधिक होता है। इस दिन दान और स्नान का विशेष महत्व बताया गया है। गुरु पूर्णिमा पर तिल का दान करें और अपनी आर्थिक स्थिति के अनुसार, अगर आप किसी को भोजन कराएं तो यह भी एक श्रेष्ठ दान माना गया है।

गुरु पूर्णिमा के दिन घर को स्वच्छ रखें। इसके बाद उत्तर दिशा में श्वेत वस्त्र पर गुरु का चित्र-मूर्ति श्रद्धाभाव से स्थापित करें। पुष्प अर्पित करें।

गुरु प्रतिमा को माला पहनाएं। इसके उपरांत फल और मिष्ठान से गरु को भोग लगाएं।

इस दिन वस्त्र दान करना शुभ माना जाता है। इसलिए गुरु पूर्णिमा के दिन वस्त्र, फल, मिष्ठान और अनाज का दान सर्वोत्तम दान माना गया है। वहीं गुरु पूर्णिमा पर तिल का दान सर्वश्रेष्ठ दान माना गया है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story