Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

नवरात्रि में ऐसे उगाएं जौ जिससे मां दुर्गा हो जाएं प्रसन्न, आप भी जानें

नवरात्रियों के दौरान मां दुर्गा की विशेष अराधना और पूजा करने के लिए जौ तो सभी लोग उगाते हैं। परन्तु इस दौरान हमारे मन में यह चिन्ता रहती है कि हमारे जौ अच्छे से उगेंगे अथवा नहीं। तो आइए आप भी जानें जौ उगाने का तरीका। जिससे आपके द्वारा मां के लिए उगाये गए जौ अच्छे उगें और स्वस्थ रहें। और मातारानी की कृपा भी आपको प्राप्त होती रहें।

नवरात्रि में ऐसे उगाएं जौ जिससे मां दुर्गा हो जाएं प्रसन्न, आप भी जानें
X

नवरात्रियों के दौरान मां दुर्गा की विशेष अराधना और पूजा करने के लिए जौ तो सभी लोग उगाते हैं। परन्तु इस दौरान हमारे मन में यह चिन्ता रहती है कि हमारे जौ अच्छे से उगेंगे अथवा नहीं। तो आइए आप भी जानें जौ उगाने का तरीका। जिससे आपके द्वारा मां के लिए उगाये गए जौ अच्छे उगें और स्वस्थ रहें। और मातारानी की कृपा भी आपको प्राप्त होती रहें।

नवरात्रि के दौरान जौ उगाने के लिए सबसे पहले आप मिट्टी का एक गोल बर्तन लें। जौ उगाने के लिए मिट्टी का बर्तन सबसे अच्छा रहता है। आप इस मिट्टी के बर्तन को कुछ देर के लिए पानी में डूबो दें। और इसके बाद आप पानी से निकाल कर इस मिट्टी के बर्तन पर चारों तरफ रोली से स्वास्तिक बना लें। इसके बाद आप इसकी पूजा करें। जौ उगाते समय आपको बीज का विशेष ध्यान रखना चाहिए। आपको बाजार से उत्तम बीज लेना चाहिए। बीज अगर खराब होगा तो जौ नहीं उगता है। और आप दुविधा में पड़ जाते हैं। सबसे पहले जब भी आप जौ का बीज लें तो बीज को परखने के बाद ही खरीदें। बीज की भी दृष्टि से खराब ना हो। बीज बिलकुल ठीक होगा तो हमारे जौ अच्छे से उग जाएंगे।

जौ के बीज के बाद हमें उत्तम प्रकार की मिट्टी का चयन करना है। क्योंकि किसी भी बीज के लिए मिट्टी का उत्तम होना भी बहुत जरुरी होता है। अगर मिट्टी अच्छी होगी तो हमारे जौ बहुत ही अच्छे उगेंगे। जौ उगाने के लिए मिट्टी साफ और थोड़ी रेतीली होनी चाहिए। मिट्टी में किसी प्रकार के कंकड़-पत्थर आदि नहीं होने चाहिए। अगर आपके पास चिकनी मिट्टी है तो आप उसमें रेत मिला सकते हैं। अगर आपके पास खराब मिट्टी है तो आप उसका प्रयोग जौ उगाने के लिए ना करें। आप जौ उगाने के लिए केवल उत्तम प्रकार की मिट्टी का ही चयन करें। और इसके बाद आप बर्तन में मिट्टी डालें तथा बर्तन को थोड़़ा खाली रखें। इसके बाद आप बर्तन में थोड़े से दाने गेंहू के डाल दें। इससे आपके घर में मां लक्ष्मी का वास बना रहता है। और उसके बाद आप ने जो जौ का बीज लिया है उसे पहले ही दो से तीन घंटे पानी में भिगों दें। और गेंहू को बर्तन में डालने के बाद उस जौ के बीज को भी मिट्टी के बर्तन में डाल दें। और इसके बाद आप इन बीजों को पूरी तरह से मिट्टी से ढक दें। और इसके बाद आप बर्तन में पानी इस प्रकार डालें कि बीज हिलना नहीं चाहिए।

यानि कि आप हाथ के सहारे से उसमें पानी डालें। और एक बार पानी देने के बाद जब आप इस बर्तन पर मिट्टी के कलश की स्थापना कर देंगे तो आपको इसमें अधिक पानी देने की जरुरत नहीं पड़ेगी। क्योंकि मिट्टी के कलश से पानी रिसता रहता है और इस बर्तन में नमी बनी रहती है। लेकिन अगर आप पीतल, तांबा या स्टील के कलश की स्थापना कर रहे हैं तो आपको सुबह-शाम पूजा के दौरान इस बर्तन में थोड़ा-थोड़ा पानी छिड़क देना चाहिए। अधिक पानी इस बर्तन में बिलकुल ना दें। अधिक पानी देने से जौ गल जाते हैं और ज्यादातर बीज उग नहीं पाते हैं। इसलिए आप पानी का भी विशेष ध्यान रखें। अगर आपने इन बातों का ध्यान रखा तो आपके जौ अच्छे से उगेंगे। सभी दाने उगेंगे और आपके जौ लंबे उगेंगे। और आपको मातारानी की कृपा प्राप्त होगी।

Next Story