Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

भोजन करने के ये नियम अगर आप करेंगे फॉलो तो आपका जीवन हो जाएगा सुखमय

हिन्दू धर्म में 16 संस्कारों के साथ-साथ व्यक्ति के जीवन में प्रतिदिन के हिसाब से भी अनेक नियम बताए गए हैं। वहीं दिन और रात्रि में क्या करना चाहिए, इसका विधान भी हिन्दू धर्म में बताया गया है। रात्रि के दौरान किन कार्यों को करना शुभ होता है अथवा अशुभ होता है। दिन में कौन से कार्य करने चाहिए अथवा नहीं करने चाहिए।

भोजन करने के ये नियम अगर आप करेंगे फॉलो तो आपका जीवन हो जाएगा सुखमय
X

हिन्दू धर्म में 16 संस्कारों के साथ-साथ व्यक्ति के जीवन में प्रतिदिन के हिसाब से भी अनेक नियम बताए गए हैं। वहीं दिन और रात्रि में क्या करना चाहिए, इसका विधान भी हिन्दू धर्म में बताया गया है। रात्रि के दौरान किन कार्यों को करना शुभ होता है अथवा अशुभ होता है। दिन में कौन से कार्य करने चाहिए अथवा नहीं करने चाहिए। इन सभी तथ्यों पर हिन्दू सनातन धर्म ग्रंथों में विस्तार से चर्चा की गई है। वहीं व्यक्ति को जीवन जीने के लिए प्रतिदिन आहार और जल की जरुरत होती है। व्यक्ति को कितना आहार कब लेना चाहिए, किस दिन क्या खाना चाहिए और क्या नहीं खाना चाहिए। इन सभी बातों को भी हमारे धर्मग्रंथों में विस्तार से बताया गया है। वहीं प्रतिदिन भोजन के संबंध में भी कुछ नियम बताए गए हैं, जिनका पालन करने से हम सुखी जीवन व्यतीत कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं भोजन करने के नियम के बारे में...

ये भी पढ़ें : Weekly Rashifal : जानें, इस सप्ताह किसकी चमकेगी किस्मत, किसका होगा बुरा हाल (साप्ताहिक राशिफल : ( 27 सितम्बर से 3 अक्टूबर 2021)

भोजन के नियम

  • भोजन की थाली को हमेशा पाट, चटाई, चौकी, चौक अथवा टेबल पर सम्मान के साथ रखें।
  • भोजन की थाली को कभी भी एक हाथ से ना पकड़ें। ऐसा करने से वह भोजन प्रेत योनि में चला जाता है।
  • भोजन करने के बाद थाली में हाथ ना धोएं।
  • भोजन की थाली में कभी जूठन ना छोड़ें।
  • भोजन करने के बाद थाली को कभी भी किचन, स्टैंड, पलंग या टेबल के नीचे अथवा ऊपर ना रखें।
  • भोजन करने से पूर्व देवताओं का आवाह्न जरुर करें।
  • भोजन करते समय वार्तालाप और क्रोध ना करें।
  • परिवार के सदस्यों के साथ बैठकर भोजन करें।
  • भोजन करते वक्त किसी भी प्रकार की आवाज ना निकालें।
  • रात्रि में चावल, दही और सत्तु का सेवन करने से मां लक्ष्मी का निरादर होता है। इसीलिए समृद्धि चाहने वाले व्यक्ति को तथा जो व्यक्ति आर्थिक कष्ट में जीवन गुजार रहें हों, उन्हें इन चीजों का सेवन रात्रि के दौरान नहीं करना चाहिए।
  • भोजन सदैव पूर्व या उत्तर की ओर मुख करके ही करना चाहिए। संभव हो तो रसोईघर में बैठकर ही भोजन करें। ऐसा करने से राहु शांत होता है। वहीं जूते-चप्पल आदि पहनकर कभी भोजन ना करें।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story