Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Dussehra 2021: दशहरा के दिन करें ये उपाय गरीबी छोड़ देगी आपका साथ, बदल जाएगी किस्मत

Dussehra 2021: अगर लाख मेहनत करने के बाद भी आपको जीवन में सफलता नहीं मिल रही है, तो आपको विजयादशमी अर्थात दशहरा के दिन एक वृक्ष की पूजा करने से आपके जीवन में आमूलचूल परिवर्तन हो सकता है। मेहनत के बावजूद भी अगर जीवन में सफलता नहीं मिल रही है तो व्यक्ति को टेंशन लगी रहती है।

Dussehra 2021: दशहरा के दिन करें ये उपाय गरीबी छोड़ देगी आपका साथ, बदल जाएगी किस्मत
X

Dussehra 2021: अगर लाख मेहनत करने के बाद भी आपको जीवन में सफलता नहीं मिल रही है, तो आपको विजयादशमी अर्थात दशहरा के दिन एक वृक्ष की पूजा करने से आपके जीवन में आमूलचूल परिवर्तन हो सकता है। मेहनत के बावजूद भी अगर जीवन में सफलता नहीं मिल रही है तो व्यक्ति को टेंशन लगी रहती है और उसके दिमाग में तरह-तरह के नेगेटिव विचार आते रहते हैं, जोकि हमें परेशान कर देते हैं। वहीं इसके लिए आपको अलग से कुछ विशेष करने की आवश्यकता नहीं है, आपको केवल एक वृक्ष से जुड़ा हुआ उपाय करना है और ऐसी मान्यता है कि, इस वृक्ष से जुड़ा हुआ उपाय आपके जीवन में काफी कारगर होता है। तो आइए जानते हैं इस उपाय के बारे में...

ये भी पढ़ें : Dussehra 2021: विजयदशमी के ये टोटके आपको कर सकते हैं मालामाल, जानें

  • अगर आपको तमाम मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिल रही है, आपका भाग्य साथ नहीं दे रहा है, तो दशहरे के दिन शमी के पेड़ की पूजा करें। इसके बाद इस पेड़ की कुछ पत्तियां तोड़कर लाएं और उन्हें अपने पास संभालकर रख लें और जब भी कहीं आप जाएं तो इन पत्तियों को रुमाल में रखकर अपने साथ लेकर जाएं। ऐसी मान्यता है कि, शमी शनि ग्रह से संबंधित होता है, इसके कारण शनिदोष से प्रभावित लोगों की किस्मत साथ देती है और जीवन में सफलता मिलने लगती है। ्र
  • अगर जीवन में टेंशन ही टेंशन लगी रहती है तो दशहरे के दिन शमी के पेड़ की पूजा करने के बाद आप चींटियों को आप चीनी मिले आटे या फिर शक्कर को किसी भी चीज में मिलाकर चींटियों को खिलाएं। ऐसी मान्यता है कि, ऐसा करने से जीवन की परेशानियां दूर होती हैं और साक्षात् ईश्वर की कृपा प्राप्त होती है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story