Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Dussehra 2020 : जानिए दशहरे पर बनने वाले शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त

Dussehra 2020 : दशहरे के शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त (Ravan Dahan Shubh Muhurat) जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है। इन्हें जानने से आप सही समय में विजयदशमी की पूजा (Vijayadashami Ki Puja) और रावण दहन कर पाएंगे तो चलिए जानते हैं दशहरे के शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त।

Dussehra 2020 : जानिए दशहरे पर बनने वाले शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त
X

Dussehra 2020 : जानिए दशहरे पर बनने वाले शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त

Dussehra 2020 : दशहरा 25 अक्टूबर 2020 (Dussehra 25 October 2020) को मनाया जाएगा। इस दिन भगवान श्री राम (Lord Rama) ने रावण का वध किया था। इसी कारण से हर साल दशहरे पर रावण दहन किया जाता है।लेकिन क्या आप दशहरे के शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त जानते हैं। अगर नहीं तो आज हम आपको इसके बारे में बताएंगे तो आइए जानते हैं दशहरे के शुभ संयोग और रावण दहन का शुभ मुहूर्त।

दशहरे के शुभ संयोग (Dussehra Ke Shubh Sanyog)

इस बार दशहरे के दिन कई शुभ संयोग बन रहे हैं। दशहरे के दिन सबसे खास मुहूर्त होता है विजय मुहूर्त जो दोपहर 2 बजकर 05 मिनट से दोपहर 2 बजकर 52 मिनट तक रहेगा। वहीं विजयदशमी के दिन अपराह्न पूजा का समय दोपहर 01 बजकर 18 मिनट से दोपहर 3 बजकर 40 मिनट तक रहेगा। जिसमें दशहरे की पूजा की जा सकती है। यदि आप शस्त्र पूजा करते हैं तो भी यह मुहूर्त काफी शुभ है।

इसके अलावा इस दिन अभिजित मुहूर्त सुबह 11 बजकर 43 मिनट से दोपहर 12 बजकर 30 मिनट तक रहेगा।यदि रवि योग की बात करें तो रवि योग पूरे दिन बन रहा है। यदि आप इस दिन कोई खरीददारी करना चाहते हैं तो आप इन मुहूर्त में कर सकते हैं। इसके अलावा इस दिन अमृत काल मुहूर्त शाम 6 बजकर 44 मिनट से रात 8 बजकर 27 मिनट पर बन रहा है। इस शुभ मुहूर्त में रावण दहन किया जा सकता है।

दशहरे की ग्रह स्थिति (Dussehra Ki Graha Stithi)

दशहरे के दिन चंद्रमा शाम 4 बजकर 57 मिनट तक मकर राशि और धनिष्ठा नक्षत्र में रहेगा और उसके बाद कुंभ राशि में प्रवेश कर जाएगा। वहीं सूर्य इस दिन तुला राशि में शुक्र अपनी नीच राशि कन्या में,गुरु अपनी स्वंय की राशि धनु में, शनि अपनी स्वंय की राशि मकर में,बुध अपनी मित्र राशि तुला में वक्री,मंगल अपनी मित्र राशि मीन में वक्री,राहु वृषभ राशि में और केतु में वृश्चिक राशि में रहेंगे।

Next Story