Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

दुर्गा पूजा की शुरुआत कब से शुरू हुई, नवरात्रि में मां भवानी को प्रसन्न करने के लिए क्या करें

Sharadiya Navratri 2020: हिन्दू धर्म में मां दुर्गा पूजा की प्रथा नवरात्रि के दौरान सनातन काल से चली आ रही है। सर्वप्रथम भगवान श्रीराम चंद्र जी ने शारदीय नवरात्रि का प्रारंभ समुद्र तट पर लंका युद्ध के दौरान किया था। और उसके बाद दसवें दिन लंका में रावण पर विजय प्राप्त की थी।

दुर्गा पूजा की शुरुआत कब से शुरू हुई, नवरात्रि में मां भवानी को प्रसन्न करने के लिए क्या करें
X

Sharadiya Navratri 2020: हिन्दू धर्म में मां दुर्गा पूजा की प्रथा नवरात्रि के दौरान सनातन काल से चली आ रही है। सर्वप्रथम भगवान श्रीराम चंद्र जी ने शारदीय नवरात्रि का प्रारंभ समुद्र तट पर लंका युद्ध के दौरान किया था। और उसके बाद दसवें दिन लंका में रावण पर विजय प्राप्त की थी। तब से ही असत्य पर सत्य की जीत, और अधर्म पर धर्म की जीत का पर्व दशहरा मनाया जाने लगा है। नवरात्रि के प्रत्येक दिन नौ अलग-अलग मां के रुपों की पूजा की जाती है। इन नौ दिनों में पवित्रता और शुद्धि का विशेष ध्यान रखा जाता है। इन नियमों का पालन और विधि पूवर्क की गई पूजा से मां दुर्गा की कृपा से साधनाएं और मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। घर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है। और नाकारात्मक ऊर्जा समाप्त होती है। तो आइए नवरात्रि के दौरान क्या करना चाहिए।

1. नवरात्रि के दौरान जितना भी संभव हो सके लाल रंग के आसन, पुष्प और वस्त्रों का ही उपयोग करें। क्योंकि मां भवानी को लाल रंग प्रिय होता है।

2. नवरात्रि के दौरान प्रतिदिन मां के मंदिर अथवा अपने घर के पूजाघर में शुद्ध देशी घी का दीपक प्रज्ज्वलित करें। और संभव हो सके तो आप वहीं बैठकर श्रीदुर्गा सप्तसती और दुर्गा चालीसा का पाठ करें और उसके उपरांत मातारानी की आरती करें।

3.नवरात्रि के दौरान प्रतिदिन मां की आरती का थाल सजाकर मां की आरती करें।

4. नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा भवानी और उनके स्वरूपों की पूजा करें और उन्हें पुष्प-माला आदि अर्पित करें।

5. मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए नवरात्रि के दौरान तन और मन से ब्रह्मचर्य का पालन करते हुए उपवास रखें।

6. नवरात्रि के दौरान अष्टमी और नवमी तिथि के अवसर पर अपने घर-परिवार की रीति-रिवाज के अनुसार कन्या पूजन करने के बाद देवी स्वरूप कन्याओं के चरण स्पर्श करने के बाद उनसे आशीर्वाद जरुर लें।

7.नवरात्रि के दौरान अपने घर आई किसी भी कन्या को अपने घर से खाली हाथ विदा ना करें।

8.नवरात्रि के दौरान मां दुर्गा के नाम की ज्योति जरुर जलाएं। अगर आप अखंड ज्योति जला सकते हैं तो उत्तम है। अन्यथा इस दौरान प्रतिदिन सुबह-शाम ज्योति जरुर जलाएं।

9.नवरात्रि के दौरान आपको ब्रह्मचर्य व्रत का पालन जरुर करना चाहिए। संभव हो सके तो आप नवरात्रि के दौरान धरती पर शयन कर सकते हैं।

10. नवरात्रि के दौरान अंतिम दिन नव कन्याओं को अपने घर बुलवाकर उन्हें भोजन कराएं। और नव कन्याओं का पूजन करने के बाद उनकी आवभगत करें।

और पढ़ें
Next Story