Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Dhanteras 2021: धनतेरस पर घर ले आएं ये सामान, लक्ष्मी हमेशा रहेगी आपके साथ

Dhanteras 2021: धनतेरस का पर्व कार्तिक त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। धनतेरस धन और तेरस दो शब्दों से मिलकर बना है, धन का अर्थ है समृद्धि और तेरस का अर्थ है13। साल 2021 में धनतेरस का पर्व 02 नवंबर 2021, दिन मंगलवार को मनाया जाएगा। पौराणिक कथाओं के अनुसार, धनतेरस के दिन जो भी चीज खरीदी जाती है, मान्यता है कि, उसमें 13 गुना अधिक वद्धि होती है।

Dhanteras 2021: धनतेरस पर घर ले आएं ये सामान, लक्ष्मी हमेशा रहेगी आपके साथ
X

Dhanteras 2021: धनतेरस का पर्व कार्तिक त्रयोदशी तिथि को मनाया जाता है। धनतेरस धन और तेरस दो शब्दों से मिलकर बना है, धन का अर्थ है समृद्धि और तेरस का अर्थ है13। साल 2021 में धनतेरस का पर्व 02 नवंबर 2021, दिन मंगलवार को मनाया जाएगा। पौराणिक कथाओं के अनुसार, धनतेरस के दिन जो भी चीज खरीदी जाती है, मान्यता है कि, उसमें 13 गुना अधिक वद्धि होती है। ज्योतिष के अनुसार, धनतेरस पर आरोग्यता के लिए भगवान धनवंतरि जी की पूजा विशेष फलदायी होती है और इस दिन भगवान कुबेर और मां लक्ष्मी जी का भी पूजन किया जाता है। तो आइए जानते हैं साल 2021 में आने वाली इस धनतेरस के शुभ दिन में खरीदी जाने वाली ऐसी पांच चीजें कौनसी है जो न सिर्फ आपके घर में समृद्धि लाएंगी बल्कि आपके सौभाग्य को भी कई गुना बढ़ा देंगी।

ये भी पढ़ें: Jyotish Shastra: पति-पत्नी इन कारगर उपायों से कर सकते हैं अपने बीच बढ़ रही दूरी को दूर, जानें गृह क्लेश निवारण के अचूक उपाय

धातु के बर्तन

धनतेरस के दिन धातु के बर्तन की खरीदारी करना बहुत ही शुभ होता है। बर्तन की खरीदारी करते समय ध्यान रखें कि पीतल का बर्तन जरुर खरीदें। मान्यता है कि जब धनतेरस के दिन धन्वंतरि जी प्रकट हुए तो उनके हाथों में अमृत से भरा हुआ पीतल का कलश था। पीतल को भगवान धन्वंतरि जी की मुख्य और प्रिय धातु माना जाता है। धनतेरस के दिन पानी भरने वाला बर्तन या कलश खरीदना भी बहुत शुभ होता है।

चांदी की खरीदारी

धनतेरस के दिन चांदी की खरीदारी या कोई चांदी का सिक्का खरीदना शुभ माना जाता है। क्योंकि चांदी का संबंध चंद्रमा से है, इस दिन आप चांदी के बर्तन या सिक्के खरीदते हैं तो इससे घर में यश-कीर्ति, ऐश्वर्य और धन-संपदा में कई गुना अधिक वृद्धि होती है। धन के देवता कुबेर को चांदी अति प्रिय है। इस दिन चांदी खरीदकर उसे कुबेर पूजा के समय पूजा स्थल पर रखें।

कौड़ियां

पौराणिक ग्रंथों के अनुसार समुद्र मंथन के दौरान जब लक्ष्मी जी प्रकट हुई तब उनके साथ कौड़यां भी आई थीं। कौड़ी मां लक्ष्मी की प्रिय चीजों में से एक है। इसलिए यदि आप धनतेरस के दिन कौड़ियां खरीदकर दिवाली के दिन इसकी पूजा कर अपनी तिजोरी में रखते हैं तो इससे कभी भी धन हानि नहीं होती है। बल्कि आपके घर में मां लक्ष्मी का स्थाई वास होता है।

धनिया का बीज

धनतेरस के दिन धनिया के बीज खरीदना शुभता को बढ़ाने वाला होता है। यदि आप धनतेरस के दिन धनिया का बीज खरीदकर लक्ष्मी पूजन के समय इसका प्रयोग करने के बाद दीपावली के दिन इन बीजों को घर के आंगन या गमले में बोते हैं तो कहा जाता है कि जितना ये धनिया फलता-फूलता है उतना ही आपके घर में सुख-समृद्धि आती है।

दिवाली पूजन सामग्री

धनतेरस के दिन से ही पांच दिनों तक चलने वाली दीपावली पर्व की शुरूआत होती है। इसलिए यदि आप धनतेरस के दिन दिवाली से संबंधित खरीदारी जैसे लक्ष्मी-गणेश जी की मूर्ति, खील-बताशे और मिट्टी के दीये खरीदते हैं तो यह बहुत ही शुभ होता है।

झाड़ू

झाड़ू में मां लक्ष्मी जी का वास माना जाता है। इसलिए अगर आप धनतेरस के दिन नई झाड़ू खरीदकर अपने घर लाते हैं और लक्ष्मी पूजन के बाद आप उसका प्रयोग घर की साफ-सफाई में करते हैं तो यह आपके लिए बहुत शुभ मानी जाती है।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story