Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Devuthni Ekadshi 2020: जानिए मां लक्ष्मी ने भगवान विष्णु को अल्प निन्द्रा के लिए कैसे मनाया

Devuthni Ekadshi 2020: देव उठनी एकादशी और भगवान विष्णु की योगनिन्द्रा के विषय में हिन्दू धर्मशास्त्रों में अनेक कहानी प्रचलित हैं।

Devuthni Ekadshi 2020: जानिए मां लक्ष्मी ने भगवान विष्णु को अल्प निन्द्रा के लिए कैसे मनाया
X

Devuthni Ekadshi 2020: देव उठनी एकादशी और भगवान विष्णु की योगनिन्द्रा के विषय में हिन्दू धर्मशास्त्रों में अनेक कहानी प्रचलित हैं। और लोग देव उठनी एकादशी के समय अपने-अपने परिवार और समाज की रीति-रिवाज के अनुसार उन कथाओं और कहानियों को पढ़ते और सुनते हैं। उन्हीं कथाओं में एक कथा माता लक्ष्मी और भगवान विष्णु की भी आती है। जिसमें माता लक्ष्मी ने भगवान विष्णु को उनकी अनियमित योगनिन्द्रा को नियमित करने के लिए भगवान श्रीहरि विष्णु जी से आग्रह किया था। तो आइए आप भी जानिए उस कहानी के बारे में।


एक बार माता लक्ष्मी भगवान विष्णु से पूछती हैं कि स्वामी आप या तो रात-दिन जगते ही हैं। या फिर लाखों-करोड़ों वर्ष तक योग निन्द्रा में ही रहते हैं। आपके ऐसा करने से संसार के समस्त प्राणी इस दौरान अनेक परेशानियों का सामना करते हैं। इसलिए आपसे अनुरोध है कि आप नियम से प्रतिवर्ष निन्द्रा लिया करें इससे मुझे भी विश्राम करने का समय मिल जाएगा।

लक्ष्मी जी की बातें सुनकर नारायण मुस्कुराते हैं। और कहते हैं देवी तुमने ठीक कहा। मेरे जागने से सब देवों और खासकर आपको कष्ट होता है।

और तुम्हें तो मेरी वजह से जरा भी अवकाश नहीं मिलता है। और तुम्हारे कथनानुसार आज से मैं प्रतिवर्ष चार माह यानि वर्षा ऋतु में शयन किया करूंगा। और मेरी यह निन्द्रा अल्प निन्द्रा और प्रलयकालीन महानिन्द्रा कहलाएगी।

भगवान विष्णु मां लक्ष्मी जी से बोले कि देवी मेरी यह अल्प निन्द्रा मेरे भक्तों के लिए परम मंगलकारी होगी। और इस काल में जो भी मेरे भक्त मेरे शयन की भावना कर मेरी सेवा करेंगे और शयन व उत्थान के उत्सव को आनन्द पूर्वक आयोजित करेंगे उनके घर में मैं आपके साथ निवास करूंगा।

Next Story