Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Datta Purnima 2021: दत्ता पूर्णिमा कब है, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व

Datta Purnima 2021: 18 दिसंबर को दत्ता पूर्णिमा है। दत्ता अर्थात दत्तात्रेय पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त क्या है। दत्तात्रेय पूर्णिमा की पूजा विधि क्या होगी, महत्व और इस दिन कौन सी कथा सुनना महत्वपूर्ण माना जाता है।

Datta Purnima 2021: दत्ता पूर्णिमा कब है, जानें शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व
X

Datta Purnima 2021: भगवान दत्तात्रेय पूर्णिमा या दत्त पूर्णिमा मार्गशीर्ष माह की पूर्णिमा तिथि को मनायी जाती है। दत्तात्रेय को ब्रह्मा, विष्णु और महेश का साक्षात अवतार माना जाता है। वहीं साल 2021 दत्त पूर्णिमा 18 दिसंबर को मनायी जाएगी। तो आइए जानते हैं पूजा का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि के बारे में...

ये भी पढ़ें: Margashirsha Purnima 2021: मार्गशीर्ष पूर्णिमा पर बन रहा ये अक्षय पुण्यदायी योग, जानें पूजाविधि और इसका महत्व

पूर्णिमा तिथि शुभ मुहूर्त

पूर्णिमा तिथि

पूर्णिमा तिथि 18 दिसंबर, शनिवार को मनायी जाएगी।

पूर्णिमा तिथि प्रारंभ

18 दिसंबर, शनिवार प्रात: 07:24 बजे से

पूर्णिमा तिथि समाप्त

19 दिसंबर, रविवार प्रात: 10:05 बजे

वहीं भगवान दत्तात्रेय को 24 अवतारों में से एक माना जाता है। भगवान दत्तात्रेय की विशेष पूजा-आराधना करने से व्यक्ति की सभी मनोवांछित कामनाओं की पूर्ति होती है। इस दिन लोग पूरे दिन उपवास रखते हैं और भगवान दत्तात्रेय की विधिवत पूजा-अर्चना करते हैं। अध्यात्मिक दृष्टिकोण और मानसिक दृष्टिकोण से भगवान दत्तात्रेय के तीन सिर तीन गुणों (सत्व, रज और तम) का प्रतिनिधित्व करते हैं। तो इसीलिए हमें सतोगुण, रजोगुण और तमोगुण पर नियंत्रण रखने के बारे में भगवान दत्तात्रेय के जीवन से सीखते हैं।

दत्त पूर्णिमा पूजाविधि

दत्त पूर्णिमा के दिन सबसे पहले आप ब्रह्म मुहूर्त में उठें और नित्य क्रियाओं से निवृत्ति होकर स्नान करें। इसके बाद आप धुले हुए स्वच्छ वस्त्र धारण करें। पूजास्थल पर एक चौकी बिछाकर उस पर गंगाजल छिड़ककर उसे शुद्ध कर लें। इसके उपरांत भगवान दत्तात्रेय की प्रतिमा स्थापित करें। इसके बाद उन्हें माला आदि अर्पण करें। इसके बाद विधि विधान से भगवान दत्तात्रेय को दूध-दीप दिखाएं और उसके बाद अंत में उनकी आरती करें। तथा उनकी कथा सुनें अथवा पढ़ें। इसके बाद प्रसाद का वितरण करें।

Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।

Next Story