Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Chanakya Niti : धन व्यक्ति का सच्चा मित्र होता है, ऐसे करोंगे खर्च तो नहीं होगी कभी पैसों की दिक्कत

  • आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में अपने जीवन के आधार पर अनेक महत्वपूर्ण बातों का जिक्र किया है।
  • आचार्य चाणक्य किसी मैनेजमेंट गुरू से कम नहीं थे।

Chanakya Niti : धन व्यक्ति का सच्चा मित्र होता है, ऐसे करोंगे खर्च तो नहीं होगी कभी पैसों की दिक्कत
X

Chanakya Niti : धन व्यक्ति का सच्चा मित्र होता है, ऐसे करोंगे खर्च तो नहीं होगी कभी पैसों की दिक्कत

Chanakya Niti : आचार्य चाणक्य ने अपनी नीति में अपने जीवन के आधार पर अनेक महत्वपूर्ण बातों का जिक्र किया है। चाणक्य नीति आचार्य चाणक्य का नीति ग्रंथ है जिसमें उन्हें मानव जीवन से जुड़े अनेक पहलुओं पर विस्तार से वर्णन किया और जीवन में आने वाली अनेक समस्याओं का समाधान बताया है। आचार्य चाणक्य ने जो भी बातें अपनी पुस्तक में बताई हैं आज के लोगों को भी उन्हें अपनाकर अपने जीवन में उनसे लाभ उठाना चाहिए। आचार्य न सिर्फ असाधारण बुद्धि के धनी थे, बल्कि अनेक विषयों के ज्ञाता भी थे। आचार्य चाणक्य जी किसी मैनेजमेंट गुरू से कम नहीं थे। आचार्य ने जीवन के हर पहलू पर अपने विचार व्यक्त किए हैं। वहीं धन के संदर्भ में चाणक्य का मानना था कि धन ही व्यक्ति का सच्चा मित्र होता है, इसलिए धन का संचय व्यक्ति को जरुर करना चाहिए। जीवन में जब अपने लोग भी मनुष्य का साथ छोड़ जाते हैं, तब व्यक्ति के द्वारा संचित धन ही उसके काम आता है। यदि आप चाहते हैं कि आपको अपने जीवन में धन को लेकर कभी दिक्कत ना झेलनी पड़े तो आप आचार्य चाणक्य की कुछ बातों को हमेशा ध्यान रखें और काफी सोच-विचार के बाद ही कुछ करें। तो आइए जानते हैं धन के संदर्भ में आचार्य चाणक्य के क्या थे विचार...

ये भी पढ़ें : Vastu Shastra : कौन हैं वास्तु पुरुष, जानें उनकी ये कहानी

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि, धन को हमेशा ही बहुत सोच विचार कर व्यय करना चाहिए। जो लोग धन को व्यर्थ ही खर्च करते हैं, उनके पास धन कभी भी लंबे समय तक नहीं टिक पाता। इसलिए जितना संभव हो, धन का संचय करें ताकि जरूरत पड़ने पर इसका उपयोग कर सकें।

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि, अगर आप अपने जीवन में धन कमाना चाहते हैं, तो हमेशा अपने लक्ष्य पर पैनी नजर बनाए रखें। आपकी लक्ष्य प्राप्ति ही आपके लिए धन प्राप्ति का साधन बनती है। इसलिए जीवन में जो भी करना है, उसके लिए पहले से ही रुपरेखा तैयार करें और रणनीति बनाकर उस पर पूरी लगन से काम करें।

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि सफलता मिलने की संभावना वहीं होती है, जहां रोजगार के साधन सुलभ हों। इसलिए ऐसे ही स्थान पर निवास करना चाहिए जहां रोजगार के पर्याप्त साधन उपलब्ध हों। हमेशा ऐसी परिस्थितियों या लोगों का त्याग कर देना चाहिए, जो आपकी सफलता में बाधा हों। यदि इन बातों को ध्यान रखेंगे तो धन के लिए आप कभी भी परेशान नहीं होंगे।

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि, व्यक्ति को हमेशा ईमानदारी और मेहनत से ही पैसा कमाना चाहिए। क्योंकि गलत तरीके से कमाया हुआ धन जल्दी ही समाप्त हो जाता है, वह धन कभी भी लंबे समय तक व्यक्ति के पास नहीं टिकता। गलत तरीके से धन कमाने वाले लोग एक न एक दिन किसी ना किसी परेशानी में जरूर घिर जाते हैं। वहीं ईमानदारी और मेहनत से कमाया हुआ धन हमेशा व्यक्ति के काम आता है।

आचार्य चाणक्य ने कहा है कि, आपका धन हमेशा आपके अधिकार क्षेत्र में ही रहना चाहिए। क्योंकि धन ही आपका सच्चा मित्र होता है। जिस व्यक्ति का धन दूसरे लोगों के कब्जे में रहता है, वह कभी भी उस व्यक्ति के लिए वक्त पर काम नहीं आता।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story