Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Chaitra Navratri 2021 : चैत्र नवरात्रि डेट और घटस्थापना का महत्व, जानें

  • चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri) हिन्दू धर्म (Hindu religion) के धार्मिक पर्वों में से एक हैं।
  • चैत्र नवरात्रि को हिन्दू परिवार (Hindu family) के लोग बड़ी ही श्रद्धा के साथ मनाते हैं।

Chaitra Navratri 2021 : नवरात्रि के 9 दिनों में कहीं आप भी तो नहीं करते ये 10 गलतियां, मातारानी हो जाएंगी नाराज
X

Chaitra Navratri 2021 : चैत्र नवरात्रि (Chaitra Navratri) हिन्दू धर्म (Hindu religion) के धार्मिक पर्वों में से एक हैं। जिसे अधिकांश हिन्दू परिवार के लोग बड़ी ही श्रद्धा के साथ मनाते हैं। हिन्दू पंचांग कैलेंडर (Hindu Panchang Calendar) के अनुसार, नए वर्ष के प्रारंभ से रामनवमी तक इस पर्व को मनाया जाता है। इस त्योहार को बसंत नवरात्रि (Basant Navratri) के नाम से भी जाना जाता है। चैत्र नवरात्रि के पहले दिन घट स्थापना की जाती है और इसके बाद प्रतिदिन देवी के नौ अलग-अलग स्वरूपों की पूजा की जाती है। घट स्थापना को कलश स्थापना भी कहा जाता है।

ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2021 : चैत्र नवरात्रि 2021 कैलेंडर, एक क्लिक में जानें घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

हिन्दू शास्त्रों के अनुसार, किसी भी पूजा से पहले गणेश जी की अराधना करते हैं और उसके बाद घट स्थापना की जाती है। अधिकांश लोग यह नहीं जानते हैं कि देवी मां की पूजा में कलश क्यों स्थापित किया जाता है। कलश स्थापना से संबंधित हमारे पुराणों में एक मान्यता है कि, जिसमें कलश को भगवान विष्णु का रुप माना गया है। इसलिए लोग देवी की पूजा से पहले कलश का पूजन करते हैं। पूजास्थल पर कलश की स्थापना करने से पहले उस जगह को गंगाजल से शुद्ध किया जाता है और फिर पूजा में सभी देवी-देवताओं को आमंत्रित किया जाता है।

ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2021 : चैत्र नवरात्रि 2021 कैलेंडर, एक क्लिक में जानें घटस्थापना का शुभ मुहूर्त

माता में श्रद्धा और मनवांछित फल की प्राप्ति के लिए बहुत से लोग पूरे नौ दिनों तक उपवास रखते हैं। नवमी के दिन नौ कन्याओं को जिन्हें मां दुर्गा के नौ स्वरूपों के समान माना जाता है उन्हें श्रद्धा से भोजन कराया जाता है और भोजन के पश्चात उन्हें वस्त्र और दक्षिणा आदि दिया जाता है। चैत्र नवरात्रि में लोग लगातार नौ दिनों तक देवी की पूजा और उपवास करते हैं और दसवें दिन कन्या पूजन के पश्चात उपवास खोलते हैं।

चैत्र नवरात्रि 2021 तिथि, वार और अग्रेजी तारीख

चैत्र नवरात्रि प्रतिपदा, मंगलवार, 13 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि द्वितीया, बुधवार, 14 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि तृतीया, बृहस्पतिवार, 15 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि चतुर्थी, शुक्रवार, 16 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि पंचमी, शनिवार, 17 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि षष्ठी, रविवार, 18 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि सप्तमी, सोमवार, 19 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि अष्टमी, मंगलवार, 20 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि रामनवमी, बुधवार, 21 अप्रैल 2021

चैत्र नवरात्रि दसवी, बृहस्पतिवार, 22 अप्रैल 2021

घट स्थापना का शुभ मुहूर्त

चैत्र घटस्थापना : मंगलवार, 13 अप्रैल 2021

घटस्थापना का मुहूर्त : सुबह 04 बजकर 54 मिनट से सुबह 09 बजकर 08 मिनट तक

घटस्थापना अभिजीत मुहूर्त : सुबह 10 बजकर 49 मिनट से सुबह 11 बजकर 40 मिनट तक

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

Next Story