Top
Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lal Kitab: गृह क्लेश से मुक्ति दिलाते हैं लाल किताब के ये अचूक उपाय, परिवार में हो जाता है प्रेम का वातावरण

Lal Kitab: गृह क्लेश आजकल आम जनजीवन में एक विकाराल समस्या बन चुकी है। कोई भी परिवार इस समस्या से अछूता नहीं है। गृह क्लेश के कारण अनेक परिवार पतन के गर्त में जा चूके हैं। वहीं लोग इस समस्या से निजात पाने के लिए अनेक उपाय भी करते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में लोग कई बार उपाय और टोटके करने में कुछ ना कुछ गलतियां कर बैठते हैं।

Lal Kitab: गृह क्लेश से मुक्ति दिलाते हैं लाल किताब के ये अचूक उपाय, परिवार में हो जाता है प्रेम का वातावरण
X

Lal Kitab: गृह क्लेश आजकल आम जनजीवन में एक विकाराल समस्या बन चुकी है। कोई भी परिवार इस समस्या से अछूता नहीं है। गृह क्लेश के कारण अनेक परिवार पतन के गर्त में जा चूके हैं। वहीं लोग इस समस्या से निजात पाने के लिए अनेक उपाय भी करते हैं लेकिन जानकारी के अभाव में लोग कई बार उपाय और टोटके करने में कुछ ना कुछ गलतियां कर बैठते हैं। इसलिए वो उपाय कारगर नहीं होते हैं। तो आइए जानते हैं लाल किताब के कुछ ऐसे टोटके जोकि बहुत सहज, सरल और अचूक हैं। जिनके प्रभाव से कई बार टूटे हुए घर भी बस जाते हैं और परिवार में खुशहाली आती है।

गृह क्लेश दूर करने और परिवार में प्रेम का वातावरण बनाने के उपाय

  • अगर आप दोनों (पति-पत्नी) के माध्य वाक् युद्ध अकसर होता रहता है तो आप दोनों (पति-पत्नी) प्रत्येक बुधवार को दो घंटे तक मौन रहें। मौन व्रत धारण करने से आपके परिवार में प्रेम का वातावरण उत्पन्न हो जाएगा।
  • पति प्रत्येक शुक्रवार के दिन अपनी सहचरी (पत्नी) को सुन्दर सुगन्ध युक्त पुष्प एवं इत्र उपहार में दें। और चांदी की कटोरी में चांदी की ही चम्मच से दही और शक्कर मिलाकर अपनी पत्नी को खिला दें। यह उपाय बहुत हह अचूक है इसके प्रभाव से कई बार तलाकशुदा जीवन में भी फिर से बहार आ जाती है। और दांपत्य जीवन सुखमय हो जाता है।
  • पति को जब समय मिले और उसकी पत्नी जब सज संवर रही हो तो पति को उसकी मांग में सिन्दूर भरना चाहिए। और पत्नी को अपने पति के माथे पर चंदन का टीका लगाना चाहिए। इससे दांपत्य जीवन में खुशहाली आती है और परिवारिक क्लेश से मुक्ति मिलती है।
  • जिस परिवार में गृह क्लेश हो रहा हो उस घर की महिला को अपने शयनकक्ष में 100 ग्राम सौंफ ब्रह्ममुहूर्त में स्नानादि क्रियाओं के पश्चात लाल कपडे में बांधकर रखनी चाहिए। और एक सप्ताह के बाद उस सौंफ को परिवार के लोगों को समय-समय पर खिलाते रहना चाहिए।
  • पति-पत्नी को प्रत्येक दिन लक्ष्मी-नारायण या गौरी-शंकर के मन्दिर में जाकर सुखी दांपत्य जीवन की कामना के लिए प्रार्थना करनी चाहिए।
Next Story