Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Lal kitab: लाल किताब के ये उपाय दिलाते हैं समाज में आपको मान-सम्मान, जानिए...

Lal kitab: दुनिया में ऐसा कौन व्यक्ति होगा जो अपना मान-सम्मान और सुख-समृद्धि की कामना नहीं करता होगा। सभी लोग चाहते हैं कि समाज में लोग उन्हें मान-सम्मान और इज्जत दें। लोग उसे पूछे। लेकिन समाज में मान और सम्मान सभी लोगों को नहीं मिल पाता। समाज में कुछ लोगों को घृणा की दृष्टि से भी देखा जाता है और कुछ लोगों का समाज में बहुत आदर-सत्कार होता है।

Lal kitab: लाल किताब के ये उपाय दिलाते हैं समाज में आपको मान-सम्मान, जानिए...
X

Lal kitab: दुनिया में ऐसा कौन व्यक्ति होगा जो अपना मान-सम्मान और सुख-समृद्धि की कामना नहीं करता होगा। सभी लोग चाहते हैं कि समाज में लोग उन्हें मान-सम्मान और इज्जत दें। लोग उसे पूछे। लेकिन समाज में मान और सम्मान सभी लोगों को नहीं मिल पाता। समाज में कुछ लोगों को घृणा की दृष्टि से भी देखा जाता है और कुछ लोगों का समाज में बहुत आदर-सत्कार होता है। मान-सम्मान, आदर-सत्कार यह सब वैसे तो प्रत्येक व्यक्ति के अपने कर्मों से मिलता है। लेकिन अगर व्यक्ति इसके लिए कुछ उपाय आदि भी करें तो समाज में उसके मान-सम्मान और आदर-सत्कार की संभावना भी बन जाती है। तो आइए जानते हैं लाल किताब के ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में।


Also Read: Lal kitab : पति अथवा प्रेमी को सौतन के चंगुल से ऐसे छुटाएं, दोनों में झगड़ा करवाएं

1. समाज में मान-सम्मान और आदर-सत्कार की प्राप्ति की इच्छा रखने वाले व्यक्ति को प्रतिदिन कबूतरों और चिड़ियों को चावल और बाजरा डालना चाहिए। लेकिन ध्यान रखें कि चावल और बाजरा शुक्रवार के दिन खरीदें और शनिवार से डालना शुरू करें।

Also Read: जानिए मार्गशीर्ष मास का महत्व, भगवान श्रीकृष्ण ने कही थी ये बात

2. ज्येष्ठा नक्षत्र में जामुन के वृक्ष की जड़ लाकर उसे अपने पास संभाल कर रखें। ऐसा करने से आपको कुछ ही दिनों में समाज में मान-सम्मान और आदर-सत्कार की प्राप्ति होगी। और शासन-प्रशासन में भी आपकी पकड़ मजबूत होगी।

3. रात्रि में सोते समय अपने पलंग के नीचे एक बर्तन में थोड़ा सा पानी रखें। और सुबह उस पानी को घर के बाहर डाल दें। ऐसा करने से आपके घर से रोग, विवाद, दूर हो जाएंगे। और आपको कभी भी मिथ्या लांछन नहीं लगेगा। तथा आपकी कभी बेइज्जती भी नहीं होगी। और समाज में आपका मान-सम्मान बढ़ेगा।

4. प्रतिदिन दुर्गा सप्तसती के द्वादश (12) अध्याय का नियमित पाठ करने से व्यक्ति को समाज में मान-सम्मान मिलता है। और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है।

5. समाज में मान और सम्मान की कामना रखने वाले व्यक्ति को सदैव सामाजिक कार्यों में बढ़चढ़कर भाग लेना चाहिए। और सभी के दु:ख-दर्द में शामिल होना चाहिए। ऐसा करने से समाज में व्यक्ति की जान-पहचान और सम्मान बढ़ता है।

और पढ़ें
Next Story