Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Jyotish Shastra : चंद्र का मकर राशि में गोचर का क्या हो सकता भारत और विश्व में परिणाम, जानें

  • नौ फरवरी को चंद्र ग्रह मकर राशि में प्रवेश करेंगे।
  • यही संयोग 1962 में बना था तो विश्व रूस और अमेरिका यानि दो भागों में बंट गया था।

Gochar 2021 : मई में ये तीन ग्रह बदलेंगे अपनी राशि, एक क्लिक में जानें क्या हो सकता है इसका प्रभाव
X

Jyotish Shastra : प्रकृति में ज्योतिष का बहुत बड़ा महत्व है। ज्योतिष के द्वारा हम भविष्य में होने वाली घटनाओं का पहले से ही आंकलन कर सकते हैं। और यह जान सकते हैं कि भविष्य में क्या घटना घटने वाली है। तथा देश और दुनिया में क्या बड़े बदलाव हो सकते हैं इसका ज्ञान भी हम ज्योतिष के द्वारा पहले से ही कर सकते हैं। इस बार नौ फरवरी को चंद्र ग्रह मकर राशि में प्रवेश करने वाले हैं ज्योतिष शास्त्र के अनुसार प्लूटो को मिलाकर मकर राशि में इस दौरान सात ग्रह हो जाएंगे। तो आइए जानतें हैं चंद्र ग्रह के मकर राशि में गोचर करने का देश और दुनिया पर क्या प्रभाव हो सकता है।

Also Read : Vashikaran : लौंग के प्रयोग से कैसे किसी भी लड़की को अपना बनाये, जानें

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार समय के अनुसार प्रत्येक ग्रह अपनी राशि बदलता है। इस राशि बदलने के प्रक्रिया को ज्योतिष शास्त्र में गोचर कहा जाता है। और जब किसी ग्रह का यह राशि परिवर्तन होता है तो उसके विश्व और मानव जीवन पर अनेक प्रभाव उभर कर सामने आते हैं। पिछली बार चंद्र का इसी प्रकार राशि परिवर्तन यानि यही संयोग जो अब बनने जा रहा है 1962 में बना था तो विश्व दो हिस्सों रूस और अमेरिका में बंट गया था।

ज्योतिष शास्त्र के विशेषज्ञों के अनुसार ऐसा माना जा रहा है कि इस बार भी इस गोचर के प्रभाव से भारत ही नहीं दुनिया में कई बड़े बदलाव हो सकते हैं।

1. प्राकृतिक बदलाव

चंद्र के मकर राशि में गोचर करने से प्रकृति में भी अनेक बदलाव हो सकते हैं। ज्योतिष के अनुसार यह प्रकृति में बदलाव का भी संकेत हो सकता है।

2. आर्थिक बदलाव

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र का राशि परिवर्तन भारत ही नहीं दुनिया में आर्थिक रूप से बदलाव के संकेत भी दे सकता है। (Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

3. राजनीतिक बदलाव

चंद्र का राशि परिवर्तन भारत समेत दुनिया के अनेक देशों में राजनीतिक बदलाव भी लेकर आ सकता है।

Next Story