Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Jyotish Shastra : बेटी की शादी में आ रही हैं अड़चन तो करें ये उपाय, मिलेगी शिव कृपा और शीघ्र ही होगा विवाह

Jyotish Shastra : भारतीय ज्योतिष शास्त्र में मानव जीवन से संबंधित अनेक परेशानियों के निवारण के मंत्र और उपाय बताए गए हैं। जिनको अपनाने से सभी दिक्कत और परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है। अगर आपकी बेटी भी विवाह योग्य हो गई है और उसकी शादी में अड़चनें आ रही हैं तो ज्योतिष शास्त्र और लाल किताब में बेटी की शादी से संबंधित उपाय बताए गए हैं जिनको अपनाने से आपकी बिटिया की शादी भी शीघ्र ही हो सकती है तो आइए जानते हैं बेटी का विवाह शीघ्र कराने के उपायों के बारे में।

Jyotish Shastra :  बेटी की शादी में आ रही हैं अड़चन तो करें ये उपाय, मिलेगी शिव कृपा और शीघ्र ही होगा विवाह
X

Jyotish Shastra : भारतीय ज्योतिष शास्त्र में मानव जीवन से संबंधित अनेक परेशानियों के निवारण के मंत्र और उपाय बताए गए हैं। जिनको अपनाने से सभी दिक्कत और परेशानियों से छुटकारा पाया जा सकता है। अगर आपकी बेटी भी विवाह योग्य हो गई है और उसकी शादी में अड़चनें आ रही हैं तो ज्योतिष शास्त्र और लाल किताब में बेटी की शादी से संबंधित उपाय बताए गए हैं जिनको अपनाने से आपकी बिटिया की शादी भी शीघ्र ही हो सकती है तो आइए जानते हैं बेटी का विवाह शीघ्र कराने के उपायों के बारे में।

Also Read: Samudrik Shastra : अगर आपकी पत्नी का ये अंग है बड़ा तो वह है दुनिया की सबसे भाग्यशाली महिला

  • अगर आपकी बेटी की शादी में बिलंब हो रहा है तो आप यानि बेटी का पिता गुड़ मिश्रित जल से रविवार के दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ्य दें। इस उपाय को करने से आपकी बिटिया के विवाह के यथाशीघ्र योग बनने लगेंगे। और जल्दी ही योग्य और उत्तम वर से उसकी शादी हो जाएगी।
  • जिस भी कन्या की शादी में अड़चन आ रही हैं वह सोमवार के दिन मां पार्वती का ध्यान करते हुए उत्तर दिशा की ओर अपना मुख कर के "ॐ ह्रीं गौरियाय नमः" मंत्र का एक माला जप करें। इस उपाय को करने से कन्या को मां पार्वती के साथ ही शिव कृपा प्राप्त होगी और उसके विवाह के जल्दी ही योग बन जाएंगे। साथ ही उसे अच्छा घर और उत्तम वर मिलेगा॥
  • अगर आपकी बेटी को विवाह के पश्चात उसकी ससुराल में कोई कष्ट है तो आप अपनी कन्या को कहें कि वह प्रत्येक माह के दौरान शुक्ल पक्ष में आने वाली तृतीया तिथि के दिन नमक मिश्रित भोजन का त्याग करें। और भगवान शिव के समक्ष प्रार्थना करें कि अमुक व्यक्ति मुझे कष्ट दे रहा है, आप उन्हें सद्बुद्धि दें जिससे कि वह व्यक्ति मुझे परेशान ना करें। और साथ ही "ॐ ह्रीं ॐ" मंत्र का जप करें। तथा शिव गीता का पाठ करें अथवा श्रवण करें। आपकी परेशानी जल्दी ही समाप्त हो जाएगी।
और पढ़ें
Next Story