Hari bhoomi hindi news chhattisgarh

Chanakya Niti : बड़े भाग्यशाली लोगों को मिलती हैं ये अजीब महिलाएं, रखती हैं पूरे परिवार का ख्याल

  • जानें, चीखने-चिल्लाने वाली महिलाओं की खास बातें
  • जानें, बात-बात पर रोने वाली महिलाओं की खास बातें
  • जानें, चाणक्य नीति की खास बातें

Chanakya Niti : बहुत अजीब होती हैं ऐसी महिलाएं, नहीं तोड़ती किसी का दिल
X

Chanakya Niti : ज्यादा चीखने-चिल्लाने वाली महिलाएं कैसी होती हैं, अगर आप इस बात को जान लेंगे तो हो सकता है आप रात को नहीं सो पाएं और हो सकता है कि आप सोचने पर मजबूर हो जाएं। ऐसी औरतें अजीब होती हैं। ये महिलाएं भाग्यशाली लोगों की ही जीवनसंगिनी बनती हैं। आचार्य चाणक्य के अनुसार स्त्रियां बहुत ही नाजुक दुनिया की सामान मानी जाती हैं। ऐसे में चाणक्य कहते हैं कि बात-बात पर रोने और चिल्लाने वाली महिलाएं किसी से कम नहीं होती हैं। चाणक्य कहते हैं कि चिल्लाने वाली महिलाएं अकसर यहां पर मात दे जाती हैं , चिल्लाने और रोने वाली महिलाओं का चरित्र बहुत अजीब होता है, लेकिन ऐसी महिलाओं से कई लोग बचना ही नहीं चाहते बल्कि इनके बारे में कई प्रकार के अपशब्द भी कह जाते हैं। आचार्य चाणक्य कहते हैं कि अगर आपके घर में भी कोई ऐसी महिला है जो बात-बात पर चिल्लाती और रोती है तो उसके बारे में आप जरुर जान लें।

ये भी पढ़ें : ब्रह्म मुहूर्त की ये चमत्कारी बातें क्या आप जानते हैं, जो बदल देंगी आपका जीवन

  • महिलाओं के अंदर सहनशक्ति पुरुषों से कई गुना ज्यादा होती है। ऐसे में जब कोई स्त्री बात-बात पर रोती है तो उसकी आपको कद्र करनी चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि ऐसी महिला आपको दोबारा नहीं मिलेगी। ऐसी स्त्रियां सच्चे विचार वाली मानी जाती हैं।
  • चाणक्य के अनुसार जो स्त्रियां बात-बात पर रो जाती हैं, वो लड़कियां अपने प्रेमी से कभी दूर नहीं होना चाहती हैं। ऐसी स्त्रियां परिवार के लिए बहुत ही अच्छी मानी जाती हैं। इनका दिल कोमल होने के साथ ही ये लड़कियां हर किसी की भावनाओं की कद्र भी करती हैं। ऐसी स्त्रियों को कभी खोना नहीं चाहिए। गलती ना होने पर भी जो स्त्री रो जाए उसके अंदर ममता फूट-फूट कर भरी होती है। जोकि आपके लिए अच्छी रहती है।
  • आचार्य चाणक्य कहते हैं कि महिलाओं के रोने और चिल्लाने से कई तरह की घातक बीमारी खत्म हो जाती हैं और रोने से मन हल्का भी हो जाता है। चाणक्य के मुताबिक रोने से तनाव आदि भी खत्म हो जाता है।
  • बात-बात पर रोने वाली महिलाएं हर किसी के भाग्य में नहीं होती हैं। इनका हृदय नाजुक गुड़िया के समान होता है। रोने वाली महिलाएं किसी का भी दिल नहीं तोड़ती हैं। ये महिलाएं हमेशा दूसरों की भावनाओं की कद्र करती हैं। ज्यादा रोने वाली महिलाएं खुद भूखी रह जाती हैं, लेकिन दूसरों का पेट भरने में कोई भी कसर नहीं छोड़ती हैं।

(Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi।com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबधित विशेषज्ञ से संपर्क करें)

और पढ़ें
Next Story