/307500550/hocalwire_satya_new_ro_5d
हरियाणा
Weather Update : देश के इन राज्यों में फिर सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, IMD ने दी तेज अंधड़ और बारिश की चेतावनी
हरियाणा

Weather Update : देश के इन राज्यों में फिर सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, IMD ने दी तेज अंधड़ और बारिश की चेतावनी

Manoj Jangra
|
22 May 2022 3:15 PM GMT

रविवार रात्रि को एक नया मध्यम श्रेणी का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा, जिसकी वजह से पंजाब पर एक प्रेरित चक्रवातीय सरकुलेशन बनने जा रहा है। मैदानी राज्यों, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, एनसीआर दिल्ली, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में बारिश का विस्तृत दौर शुरू होने वाला है।

Mausam Ki Jankari

देश के उत्तरी मैदानी राज्यों में भीषण गर्मी के दौर के बाद अब लगातार प्री मानसून की गतिविधियां देखने को मिल रही हैं जिस कारण राजस्थान, पंजाब, उत्तर प्रदेश, हरियाणा व एनसीआर दिल्ली में तापमान में गिरावट जारी है। इसके अलावा आने वाले एक दो दिनों में ही तापमान सामान्य से कम होने की संभावना है। राजकीय महाविद्यालय नारनौल के पर्यावरण क्लब के नोडल अधिकारी डॉ चंद्रमोहन ने बताया कि भारत के पर्वतीय क्षेत्रों में एक के बाद एक पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो रहे हैं जिस कारण सम्पूर्ण मैदानी राज्यों में मौसम गतिशील और परिवर्तनशील बना हुआ है।

रविवार रात्रि को एक नया मध्यम श्रेणी का पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होगा, जिसकी वजह से पंजाब पर एक प्रेरित चक्रवातीय सरकुलेशन बनने जा रहा है। इससे पवनों की दिशा दक्षिणी पूर्वी और दक्षिणी पश्चिमी हो जाएगी और एक टर्फ रेखा पंजाब से हरियाणा से होती हुई बंगाल की खाड़ी तक बननी शुरू हो गई है। इस मौसमी प्रणाली को प्रचुर मात्रा में नमी बंगाल की खाड़ी और अरब सागर से मिलेगी जिससे इस मौसम प्रणाली के ज्यादा तेज और ताकतवर होने की संभावना है। इस दौरान पछुआ पवनों का मिलन दक्षिणी पूर्वी और दक्षिणी पूर्वी नमी वाली हवाओं से होगा। विपरीत हवाओं के मिलन से सम्पूर्ण इलाके में बादल अपना डेरा जमा लेंगे और जबरदस्त तरीके से प्री मानसून गतिविधियां देखने को मिलेगी। इस मौसम प्रणाली की वजह से सम्पूर्ण पर्वतीय राज्यों के साथ-साथ मैदानी राज्यों, राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, एनसीआर दिल्ली, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों में बारिश का विस्तृत दौर शुरू होने वाला है।

हरियाणा में भी बारिश

हरियाणा के पश्चिमी दक्षिणी जिलों सिरसा, फतेहाबाद, हिसार, भिवानी, महेंद्रगढ़, चरखी दादरी, रेवाड़ी, झज्जर व गुड़गांव में इस मौसम प्रणाली द्वारा 23 और 24 मई को कुछ स्थानों पर सोमवार सुबह से ही और अधिकतर स्थानों पर दोपहर बाद और शाम वह रात तक 50 से 80 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और अंधड़ आंधी /तुफान और गरज चमक के साथ बारिश और कुछ स्थानों पर बिजली गिरने और ओलावृष्टि की गतिविधियां देखने को मिलेगी। जबकि हरियाणा के मध्य और उत्तरी पूर्वी जिलों पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, कुरुक्षेत्र, करनाल, कैथल, जींद, रोहतक, पानीपत, सोनीपत, पलवल, सोहना, तावडू, एनसीआर व दिल्ली में 23 और 24 मई को 60 से 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलने और अंधड़ आंधी/तुफान के सम्पूर्ण इलाके में बारिश के साथ कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ ओलावृष्टि और बिजली गिरने की प्रबल संभावनाएं बन रही है। इस दौरान 23 भी को मौसमी प्रणाली का प्रभाव अधिक देखने को मिलेगा। भारतीय मौसम विभाग ने सम्पूर्ण इलाके पर ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी कर दिया है।

तापमान में 10.0 डिग्री सेल्सियस गिरावट की संभावना

इस मौसम प्रणाली के प्रभाव से सम्पूर्ण मैदानी राज्यों विशेषकर हरियाणा व एनसीआर दिल्ली में अधिकतर स्थानों पर अधिकतम तापमान में 10.0 डिग्री सेल्सियस तापमान में गिरावट दर्ज होगी और नौतपा की शुरुआत सामान्य तापमान से ही होगी। हरियाणा व एनसीआर में अधिकतर स्थानों पर अधिकतम और न्यूनतम तापमान में गिरावट दर्ज हुई है। रविवार को हरियाणा में अधिकतम तापमान 37.0 से 44.0 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया और न्यूनतम तापमान में भी गिरावट दर्ज हुई।

लोगों और किसानों को सलाह

वर्तमान मौसम प्रणाली पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय होने से सम्पूर्ण मैदानी राज्यों के सभी किसानों को सूचित किया जाता है कि वह अपनी सभी प्रकार की बिजाई रोक लें और पेड़ के नीचे अपने पशुओं को ना रखे और जिनकी छते टीन शेड की है वो अपनी छत को मजबूत कर लें। मौसम विभाग के अनुसार 23 और 24 मई को हरियाणा, पंजाब और राजस्थान के लगभग सभी हिस्सों में तेज़ आंधी के साथ मध्यम बारिश और कुछ जगह भारी बारिश भी हो सकती है। ओलावृष्टि की भी प्रबल सम्भावना है व साथ में हवा की रफ्तार 90 किलोमीटर प्रति घंटा हो सकती है। लोगों को पेड़ों और बिजली के खंभे आदि से दूर रहने की सलाह दी जाती है।

Similar Posts