Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

सपा में फिर संग्राम, अखिलेश की टीम से मुलायम-शिवपाल आउट

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 16 2017 8:46PM IST
सपा में फिर संग्राम, अखिलेश की टीम से मुलायम-शिवपाल आउट

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को अपनी 55 सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की घोषणा कर दी। 

कार्यकारिणी में कई नई चेहरों को शामिल किया गया है। वहीं, इस टीम में पार्टी के संस्थापक और वर्तमान संरक्षक मुलायम सिंह यादव के अलावा शिवपाल यादव को जगह नहीं दी गई है। 

नई टीम के ऐलान के बाद मुलायम परिवार में सुलह हो जाने के दावों को करारा झटका लगा है। सपा के प्रमुख महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा जारी सूची के मुताबिक किरणमय नन्दा को उपाध्यक्ष के पद पर बरकरार रखा गया है। 

इसे भी पढ़ें- लोहिया की पुण्यतिथि: अरसे बाद साथ दिखाई दिए नेताजी और अखिलेश

इसके अलावा कार्यकारिणी में आजम खां, नरेश अग्रवाल और हाल में बसपा छोड़कर सपा में आये इंद्रजीत सरोज समेत 10 महासचिव, संजय सेठ कोषाध्यक्ष राजेन्द्र चौधरी, कमाल अख्तर और अभिषेक मिश्र समेत 10 सचिव, जया बच्चन, अहमद हसन तथा रामगोविन्द चौधरी समेत 25 सदस्य तथा छह विशेष आमंत्रित सदस्य शामिल हैं। 

कार्यकारिणी में सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव का नाम नहीं है। अब पार्टी में पदाधिकारी के रूप में उनके स्थान को लेकर संशय की स्थिति उत्पन्न हो गयी है।

सर्वोच्च रहनुमा पर सवाल

यह पूछे जाने पर कि क्या पार्टी संस्थापक मुलायम अब दल के ‘सर्वोच्च रहनुमा' नहीं रहे। सपा के नवमनोनीत राष्ट्रीय सचिव और पार्टी के मुख्य प्रांतीय प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने कहा कि इस बारे में वह कुछ नहीं कह सकते, लेकिन इतना जरूर है कि सपा के संविधान में इस पद का कोई प्रावधान नहीं है।

अखिलेश को अधिकार

मालूम हो कि गत पांच अक्टूबर को सपा के राष्ट्रीय अधिवेशन में अखिलेश को एक बार फिर सपा अध्यक्ष चुना गया था। उस वक्त उन्हें अपनी कार्यकारिणी चुनने का अख्तियार दे दिया गया था। उस वक्त से लोगों की नजरें इसी बात पर लगी थीं कि क्या मुलायम अब पार्टी के ‘सर्वोच्च रहनुमा' बने रहेंगे।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
sp new executive team no place for shivpal and mulayam

-Tags:#Samajwadi Party#Akhilesh Yadav#Mulayam Singh Yadav#Shivpal Yadav

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo