Hari Bhoomi Logo
सोमवार, सितम्बर 25, 2017  
Breaking News
Top

BHU बिना जांच के समलैंगिक लड़की को किया बाहर, मां-बाप को कहा- इसका इलाज करवाओ

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 5 2017 11:51AM IST
BHU बिना जांच के समलैंगिक लड़की को किया बाहर, मां-बाप को कहा- इसका इलाज करवाओ

देश के प्रतिष्ठित बनारस हिन्दु विश्वविद्यालय से संबद्ध महिला महाविद्यालय से एक छात्रा को सिर्फ इसलिए निकाला गया क्योंकि उसपर संमलैंगिक होने का आरोप लगाया गया था। कॉलेज प्रशासन को जब ये सूचना मिली कि छात्रा के मन में संमलैंगिकता की भावना है तो उसे छात्रावास से निकाल दिया गया।

 
कॉलेज प्रशासन ने कहा कि छात्रा अपनी सहपाठियों के लिए मुश्किल बन रही थी और उन्हें परेशान करती थी। कॉलेज प्रशासन ने कहा कि छात्रा गलत समलैंगिक व्यवहार करती थी और छात्रावास का अनुशासन तोड़ती थी। 
 
 
उल्लेखनीय है कि छात्रा बीए ऑनर्स की प्रथम वर्ष की छात्रा है। कॉलेज की असिस्टैंट प्रोफेसर और पांच हॉस्टल की चीफ कॉर्डिनेटर नीलम आत्री ने छात्रा के खिलाफ यह अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। उनका कहना है कि तकरीबन 16 छात्रावास की छात्राओं ने मुझे लिखित रूप में यह शिकायत दी थी कि छात्रा उन्हें परेशान कर रही है। छात्राओं ने लिखा कि छात्रा अन्य छात्राओं को धमकी देती थी कि अगर उसकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो वो आत्महत्या कर लेगी।
 
नीलम ने कहा कि छात्रा समलैंगिक नहीं है और जो लोग ये कह रहे हैं कि छात्रा को समलैंगिक होने की वजह से छात्रावास से निष्कासित किया गया है वो कॉलेज को बदनाम करना चाहते हैं। यह आंतरिक मामला ह। नीलम ने बताया कि पिछले हफ्ते छात्रा के माता-पिता को बुलाया गया था और इसकी बीमारी का इलाज करने को कहा गया था। नीलम ने कहा कि आरोपी छात्रा अन्य छात्राओं से कहती है कि अगर वो उसका होमवर्क नहीं करेगीं तो वो आत्महत्या कर लेगी।
 
 
एक अन्य प्रोफेसर के अनुसार छात्रा की गातिविधियां काफी अजीब हैं। हालांकि यह नहीं कहा जा सकता है कि छात्रा समलैंगिक लेकिन उसको निष्कासित करना इसलिए जरूरी है ताकी छात्रावास मे शांति और अनुशासन बनीं रहे।
 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
bhu suspended homosexual girl from the hostel

-Tags:#BHU#Homosexuality
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo