Hari Bhoomi Logo
बुधवार, सितम्बर 20, 2017  
Top

वीरेन्द्र सहवाग ने महेन्द्र सिंह धोनी के बारे में किया बड़ा खुलासा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 28 2017 2:51AM IST
वीरेन्द्र सहवाग ने महेन्द्र सिंह धोनी के बारे में किया बड़ा खुलासा

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी 2019 विश्व कप की टीम में होंगे या नहीं यह अभी तय नहीं है लेकिन टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेन्द्र सहवाग का मानना है कि टीम को अब भी ‘ धोनी का सही विकल्प’ तलाशना है।

सहवाग ने विशेष साक्षत्कार में कहा, ‘ मुझे नहीं लगता कि कोई भी खिलाड़ी फिलहाल धोनी की जगह ले सकता है। ऋषभ पंत अच्छे हैं लेकिन उन्हें धोनी की जगह लेने के लिए अभी और समय चाहिए।

इसे भी पढ़े:- युवराज सिंह ने पोस्ट किया शर्टलेस फोटो, हरभजन, रोहित ने उड़ाया मजाक

ऐसा विश्व कप के बाद ही हो सकता है। हमें धोनी के विकल्प के बारे में 2019 के बाद ही सोचना चाहिए। तब तक पंत को अनुभव लेना चाहिए।’

धोनी फिट रहे यह दुआ करे

सहवाग ने कहा कि प्रशंसकों को यह दुआ करनी चहिए कि धोनी फिट रहें, उन्हें इस बात की चिंता नहीं करनी चाहिए की वह रन बना रहे हैं या नहीं। सहवाग ने कहा, ‘धोनी रन बना रहे हैं या नहीं हमें यह चिंता नहीं करनी चाहिए।

हमें सिर्फ यह प्रार्थना करनी चाहिए की धोनी 2019 विश्व कप तक फिट रहें। मध्यक्रम और निचले क्रम में जो अनुभव धोनी के पास है वह किसी अन्य के पास नहीं।’

खेल में उतार-चढ़ाव चलता है              

सहवाग ने कहा कि धोनी का करियर ‘जीवन चक्र’ को दर्शाता है। उन्होंने कहा, ‘ जिंदगी की तरह, खेल की खूबसूरती यही है कि समय हमेशा एक ऐसा नहीं होता। आपको उस से जूझना होता है।

कभी ऐसा समय होता है जब आप ढेरों रन बनाते हैं और कभी ऐसा समय आता है जब आप रन बनाने के लिए तरस जाते है। व्यापार में भी ऐसा ही होता है हर साल आप मुनाफा नहीं कमाते हैं।’       

विकेट के पीछे धोनी ही हो       

टीम से ऐसी खबरें भी आ रहीं कि अगर धोनी फार्म में नहीं रहते तो केएल राहुल विकेट के पीछे की जिम्मेदारी संभाल सकते हैं लेकिन नजफगढ़ का यह नवाब ऐसी सोच के खिलाफ है।      

 उन्होंने कहा, ‘ मैं कभी ऐसे विचार का समर्थन नहीं करूगां जिसमें नैसर्गिक विकेटकीपर के अलावा किसी और को विकेट के पीछे खड़ा किया जाए। 50 ओवर का मैच इंडियन प्रीमियर लीग के 20 ओवर के मैच से काफी अलग होता है। यहां स्टंपिंग या कैच छूटने से मैच का रुख पूरी तरह बदल सकता है। यह ऐसा जोखिम नहीं है जिसे लिया जाए।’

इसे भी पढ़े:- धोनी की इस करतूत की वजह से मैच बीच में ही छोड़ कर पवेलियन लौट गए थे दोनों बल्लेबाज

हर खिलाड़ी को 100 मैचों का अनुभव हो

यह विस्फोटक बल्लेबाज का मानना है कि मध्यक्रम के बल्लेबाजों को ज्यादा मौके दिए जाने चाहिए ताकि विश्व कप से पहले हर खिलाड़ी के पास लगभग 100 मैचों का अनुभव हो। कोर टीम का गठन विश्व कप से कम से कम एक साल पहले हो जाना चाहिए।      

सहवाग ने कहा, ‘विश्व कप में मध्यक्रम में जो बल्लेबाज होंगे उन्हें और गेंदबाजों को पर्याप्त मौके दिए जाने चाहिए ताकि विश्वकप से पहले उनके पास लगभग 100 मैचों का अनुभव हो। उन्हें हर तरह की परिस्थितियों और चुनौती का सामना करने का अभ्यस्त होना चाहिए।’

अश्विन को अभी आराम चाहिए

सहवान ने कहा, ‘मध्यक्रम में इन दिनों में किसी एक खिलाड़ी को एक जगह मिलनी चाहिए, दूसरे स्थान पर केदार जाधव और मनीष पांडे को रोटेट किया जाना चाहिए। इस तरह टीम में एक अनुभवी खिलाड़ी होने के साथ नए खिलाड़ियों को भी मौका मिल सकेगा।’      

 रविचंद्रन अश्विन के काउंटी में खेलने पर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि श्रीलंका के साथ टेस्ट श्रृंखला में लगभग 200 ओवर गेंदबाजी करने के बाद उन्हें आराम करना चाहिए था। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
sehwag says thought about the option of dhoni after 2019

-Tags:#Cricket#Mahendra Singh Dhoni#Virender Sehwag#World Cup 2019
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo