Breaking News
Top

जन्मदिन विशेष: जब ध्यानचंद की हॉकी स्टिक तुड़वा कर देखी गई थी उसमें कहीं चुम्बक तो नहीं

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 29 2017 8:35AM IST
जन्मदिन विशेष: जब ध्यानचंद की हॉकी स्टिक तुड़वा कर देखी गई थी उसमें कहीं चुम्बक तो नहीं

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के बारे में ऐसा कहा जाता था कि जब भी बॉल उनकी हॉकी स्टिक पर आती थी तो चिपक जाती थी उनसे दूर ही नहीं होती थी। उनके बारे में ऐसा भी  कहा जाता है कि उन्होंने हॉकी के इतिहास में सबसे ज्यादा गोल किए हैं।

हॉलैंड में एक मैच के दौरान कुछ लोगों को शक हुआ कि मेजर की हॉकी में चुंबक लगी हुई है जिसके कारण उनकी हॉकी तुड़वा कर देखी गई थी। उन्हें शक था कि कही हॉकी में चुंबक या गोंद तो नहीं लगा हुआ है।

इसे भी पढ़े:- इतिहास रचने से चुकी सिंधू, पीएम मोदी ने की सराहना, रजत पदक से ही करना पड़ा संतोष

मेजर ध्यानचंद का जन्म 29 अगस्त 1905 को इलाहबाद के एक राजपूत घराने में हुआ था।  आपको जानकर हैरानी होगी कि बचपन में उनको हॉकी के प्रति कोई लगाव नहीं था।

जब वे दिल्ली में ब्राहम्ण रेजीमेंट में एक सिपाही की हैसियत से भर्ती हुए तब मेजर तिवारी ने उन्हें हॉकी खेलने के लिए मोटीवेट किया था। उनकी जन्मतिथि को भारत में "राष्ट्रीय खेल दिवस"  के रूप में मनाया जाता है।

उन्हें हॉकी का जादूगर ही कहा जाता है। उन्होंने अपने खेल जीवन में 1000 से अधिक गोल दागे। ध्यानचंद ने अपनी करिश्माई हॉकी से जर्मन तानाशाह हिटलर ही नहीं बल्कि महान क्रिकेटर डॉन ब्रैडमैन को भी अपना कायल बना दिया था।  

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
know about hockey magician major dhyan chand

-Tags:#Hockey#Major Dhyan Chand#Sport Day#Dhyan Chand Birthday#Don Bradman
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo