Top

पिता करते थे खदान में मजदूरी, कॉलेज जाने तक को नहीं थे पैसे, आज बना टीम इंडिया का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 22 2017 8:40PM IST
पिता करते थे खदान में मजदूरी, कॉलेज जाने तक को नहीं थे पैसे, आज बना टीम इंडिया का सबसे बेहतरीन खिलाड़ी

क्रिकेट के खेल में कितना पैसा है इसका कोई हिसाब नहीं लगा सकता।

इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कुछ खिलाड़ियों को कितनी कठिन परिस्थितियों से गुजरना पड़ता है इसका अंदाजा किसी को नहीं होता।

उमेश यादव का जन्म 25 अक्टूबर 1987 को नागपुर के गरीब परिवार में हुआ था।

इसे भी पढ़े: विराट के तरकश में नया तीर, पंड्या की जगह लेने को तैयार ये खिलाड़ी

उमेश के पिता तिलक यादव वैसे तो मूलत: यूपी के थे लेकिन कोयला खदान में बतौर मजदूर काम करने के चलते अपने परिवार के साथ नागपुर के एक गांव में गुजर-बसर कर रहे थे।

उमेश के माली हालात ऐसे थे कि लाख चाहने के बावजूद भी कॉलेज में नहीं पढ़ सकते थे।

उमेश शुरू से ही क्रिकेट में अच्छे थे विदर्भ की ओर से खेलने लगे। 

2008 में तो उमेश यादव की किस्मत ही चमक गई जब उन्हें रणजी में खेलने का मौका मिला, इसे बखूबी भुनाते हुए यादव ने 75 रन देकर 4 विकेट झटके थे। 

उमेश यादव ने 2010 में वनडे और अगले साल टेस्ट में डेब्यू किया था  । 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
indian bowler umesh yadav life

-Tags:#Cricket News#Team India#Umesh Yadav#Umesh Yadav Debut
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo