Breaking News
इस्लामाबाद हाईकोर्ट ने नवाज शरीफ और मरियम का बेल रिजेक्ट कियापंजाब पुलिसमैन की शर्मनाक करतूत, बहादुर महिला ने पुलिस को पेड़ से बांधकर पीटासर्वदलीय बैठक में PM ने कहा- विपक्ष के साथ हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार, सकारात्मक रूख अपनाएं विपक्षी दलमनचले को लड़की ने पीटा, कहा- खुद को डोनालंड ट्रप की औलाद मत समझोसिक्यूरिटी गार्ड, लिफ्ट ऑपरेटर समेत 18 लोगों ने नाबालिग का 7 माह तक किया यौन उत्पीड़न, हिरासत में लेकर जांच जारीमहागठबंधन में PM उम्मीदवार को लेकर तानाकशी, राहुल गांधी पर टिप्पणी करने पर मायावती ने लिया बड़ा एक्शनसुपीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को दिया आदेश, लिंचिंग पर बनाएं कानूनकुलभूषण जाधव मामले में आज ICJ में अपना हलफनामा करेगा दाखिल
Top

सेना को हथियार आपूर्ति पहली प्राथमिकता: निर्मला सीतारमण

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 8 2017 3:52AM IST
सेना को हथियार आपूर्ति पहली प्राथमिकता: निर्मला सीतारमण

देश की नई रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने गुरुवार को पदभार संभाल लिया। अपने पहले संबोधन में सेना को हथियारों की आपूर्ति से लेकर आधुनिकीकरण की लंबित योजनाओं को रफ्तार देने की घोषणा की।

देश की सैन्य तैयारियों को पूरी तरह चौकस बनाने के इरादे के साथ नई रक्षा मंत्री ने कहा कि सैनिकों के कल्याण का एजेंडा भी उनकी प्राथमिकता में शामिल रहेगा।

सीतारमण के कामकाज संभालने से पहले साउथ ब्लाक में रक्षामंत्री के कक्ष में पंडित ने पूजा अर्चना की

सीतारमण ने अपनी घोषणा पर आगे बढ़ने की शुरुआत करते हुए पूर्व सैनिकों के लिए 13 करोड़ रुपये के अनुदान की फाइल को मंजूरी दी।

साथ ही पूर्व सैनिकों के लिए रक्षा मंत्री ने पूर्व सैनिक कोष से वित्तीय सहायता के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।

साउथ ब्लाक में वित्त मंत्री अरुण जेटली से प्रभार लेने के बाद निर्मला ने कहा कि हमारी सेना को सभी आवश्यक हथियार और साजोसामान उपलब्ध कराया जाए।

मेक इन इंडिया पर फोकस

सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कैबिनेट से मशविरा कर सैन्य उपकरणों से लेकर आधुनिकीकरण के तमाम मुद्दों का समाधान करेंगी।

रक्षा क्षेत्र में मेक इन इंडिया पर फोकस करने की भी बात उन्होंने की। इससे अधिक से अधिक रक्षा जरूरतें अपने देश में ही पूर्ति हो सकेगी।

सैनिकों की सीमा पर कठिन हालातों में तैनाती का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि सैनिक और उनके परिजनों के कल्याण पर भी उनका ध्यान रहेगा।

ताकि सीमा पर तैनात सैनिक अपने परिवार की चिंता न कर सके। उन्होंने कहा कि सैनिकों को बेहतर हथियार और साजोसमान उपलब्ध कराना भी उतना ही जरूरी है।

रक्षा मंत्री के रूप में वे कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति की सदस्य भी बन गई हैं।

इस समिति में प्रधानमंत्री के अलावा गृह, वित्त, रक्षा और विदेश मंत्री शामिल हैं। यही समिति देश की सुरक्षा और रणनीति से जुड़े सभी अहम फैसले लेती है।  

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
weapons supply to army is first priority

-Tags:#Nirmala Sitharaman#Defense Minister#Make In India

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo