Breaking News
Top

जब शैम्पू बेचने वाली कंपनी ने युवती से सरेआम उतरवाई टी-शर्ट, बवाल

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 9 2017 6:29PM IST
जब शैम्पू बेचने वाली कंपनी ने युवती से सरेआम उतरवाई टी-शर्ट, बवाल

कॉस्मैटिक्स ब्रांड डव के एक नए नस्लभेदी विज्ञापन को लेकर विवाद शुरू हो गया है। इस विज्ञापन में दिखाया गया है कि एक अश्वेत महिला बाथरूम में जाती है और उसके बगल में डव का एक बॉडी वॉश रखा हुआ है।

इसे भी पढ़ें- ट्विटर की मदद से हर महीने कमा सकते हैं लाखों रुपए,बस करना होगा ये छोटा सा काम

महिला जैसे ही अपनी टीशर्ट निकालती है, दूसरी तस्वीर में एक गोरी महिला मुस्कुराते हुए दिखाई देती है। जैसे ही यह विज्ञापन जारी हुआ, कंपनी पर नस्लभेदी आरोप लगने लगे और इसका जमकर विरोध किया जाने लगा।

डव कंपनी पर नस्लभेदी आरोप लगने के बाद कंपनी ने फेसबुक और ट्विटर के जरिए माफी मांगी लेकिन इस तरह के विज्ञापन जारी करने की वजह नहीं बताई। 

आज की सबसे ज्यादा पढ़ी गई खबर- यूजीसी को हिन्दू, मुस्लिम शब्दों पर आपत्ति, AMU से M और BHU से H हटेंगे!

सोशल मीडिया पर भी इस विज्ञापन को लेकर लोगों ने खूब आपत्ति जताई है। लोगों ने लिखा है कि डव के ऐसे कैंपेन से लगता है कि कंपनी बताना चाहती हो जैसे कि काली त्वचा खराब है और गोरी त्वचा अच्छी।

किसी साबुन या बॉडी वॉश यूज करने के बाद काले से गोरा हो जाना यह एक नस्लभेदी संदेश देता है। 

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
unilevers dove apologises for facebook soap ad campaign that many call racist

-Tags:#New Delhi#DoveAd#Ad Campaign
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo