Top

तीन तलाक: इन पञ्च परमेश्वरों ने सुनाया फैसला, जानिए इनकी पूरी कहानी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 22 2017 11:32AM IST
तीन तलाक: इन पञ्च परमेश्वरों ने सुनाया फैसला, जानिए इनकी पूरी कहानी

सुप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक को असंवैधानिक करार करते हुए तीन तलाक को भारत से हमेशा हमेशा के लिए खत्म कर दिया है। कोर्ट ने केंद्र सरकार से इस दौरान कानून बनाने के लिए कहा है। सुप्रीम कोर्ट में पांच जजों की एक बेंच तीन तलाक़ पर सुनवाई कर रहा है। तीन तलाक़ मुसलमानों से जुड़ी एक विवादित प्रथा है। इस विवाद को निपटाने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने पांच जजों की जो बेंच बनाई है उसमें सभी अलग-अलग धर्मों से हैं। 

जस्टिस कुरियन जोसेफ ईसाई, आरएफ़ नरीमन पारसी, यूयू ललित हिन्दू, अब्दुल नज़ीर मुस्लिम और इस बेंच की अध्यक्षता कर रहे सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायधीश जेएस खेहर सिख हैं।

जेएस खेहर ने फ़ैसला किया है कि तीन तलाक़ पर सुनवाई गर्मी की छुट्टियों में पूरी कर ली जाएगी। जस्टिस खेहर अगस्त में रिटायर होने वाले हैं। पिछले दो सालों से इस मामले में कोर्ट में मुस्लिम महिलाओं ने याचिका दायर की है।

इसे भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट में तीन तलाक पर सुनवाई शुरू

ऐसा कहा जा रहा है कि इस प्रथा से महिलाओं का हक़ मारा जा रहा है और उनके साथ नाइंसाफी हो रही है। तीन तलाक़ एक शरिया नियम है जो मर्दों को तीन बार तलाक़ कहने से शादी ख़त्म करने का अधिकार देता है।

तीन तलाक़ का बने रहना और इसका ख़त्म होना दोनों स्थिति में विवाद की आशंका जताई जा रही है। इस अहम मामले पर सुनवाई करने वाले जज आख़िर कौन हैं? आइए हम उन जजों को बारे में आपको बताते हैं-

आगे की स्लिड्स में जानिए इन पांचों जजों के बारे में...


ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo