Breaking News
उत्तराखंड: चमोली में बादल फटने की वजह से भूस्खलन, अलर्ट जारीNo Confidence Motion: गिरिराज सिंह ने राहुल गांधी पर ली चुटकी, बोले- भकूंप के मजे के लिए तैयारDaati Maharaj Case: कोर्ट ने CBI जांच वाली याचिका पर जारी किया नोटिस, मांगा जवाबमानसून सत्र 2018ः No Confidence Motion पर संसद में बहस जारीNo Confidence Motion: कांग्रेस को मिले समय पर खड़गे ने उठाए सवाल, कहा- 130 करोड़ लोगों के लिए 38 मिनट पर्याप्त नहींNo Confidence Motion: शिवसेना ने किया वहिष्कार, कहा- सदन की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्साअविश्वास प्रस्ताव को प्रश्नकाल की तरह समय देने पर मल्लिकार्जुन खड़गे ने उठाए सवालमोदी सरकार की पहली 'परीक्षा' के लिए राहुल गांधी के 'भूकंप' लाने वाले सवाल लीक
Top

VIDEO: न्याय की आस में माता-पिता को उठाकर 40 किलोमीटर चला आदिवासी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 1 2017 8:35AM IST
VIDEO: न्याय की आस में माता-पिता को उठाकर 40 किलोमीटर चला आदिवासी

ओडीशा के मयूरभंज में एक आदिवासी न्याय की आस लिए अपने माता-पिता को 40 किलोमीटर तक पैदल चला। आदिवासी शख्स कार्तिक सिंह के मुताबिक मोरोडा पुलिस ने उसपर झूठा केस दर्ज किया और उसे जेल में बंद रखा।

कार्तिक का कहना है कि मोरोडा पुलिस ने सबसे पहले एक झूठे केस में उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज की और उसके बाद उसे जेल में करीब 18 दिनों तक बंद रखा। कार्तिक ने बताया कि ये मामला 2009 का है। 
 
 
कार्तिक अपने माता पिता को तराजू पर बैठा कर और उन्हें उठाकर 40 किलोमीटर तक चली सिर्फ इसलिए क्योंकि उसे न्याय की तलाश है। कार्तिक ने कहा कि उसके माता-पिता उसके बिना 18 दिनों तक अकेले रहे और अब वो उन्हें अकेला नहीं छोड़ सकता।
 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
tribal man walked 40 kms on foot carrying his parents in the hope of justice

-Tags:#Mayurbhanj#Kartik Singh#Moroda Police

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo