Hari Bhoomi Logo
शुक्रवार, जुलाई 28, 2017  
Top

चेन्नई, मुंबई समेत भारत के 20 शहरों में बाढ़ के कारण 13 करोड़ लोगों के बेघर होने का खतरा: रिपोर्ट

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 16 2017 8:27AM IST
चेन्नई, मुंबई समेत भारत के 20 शहरों में बाढ़ के कारण 13 करोड़ लोगों के बेघर होने का खतरा: रिपोर्ट

रिपोर्ट में खुलासा किया गया है कि भारत में निचले तटीय इलाकों में रहने वाले 13 करोड़ लोगों पर बाढ़ के कारण बेघर होन के खतरा मंडरा रहा है।

बता दे कि एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2050 तक एशिया-प्रशांत क्षेत्र में सालाना भारी बारिश और बाढ़ कारण भारी नुकसान वाले शीर्ष 20 देशों की सूची में मुंबई, चेन्नई, सूरत तथा कोलकाता शीर्ष 13 शहरों में शामिल होंगे। 

ये भी पढ़े-असम: बाढ़ ने मचाई भारी तबाही, 1 हजार से ज्‍यादा गांव डूबे

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) तथा पोस्टडैम इंस्टीट्यूट फॉर क्लाइमेट इंपैक्ट रिसर्च (पीआईके) की रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया को आर्थिक स्तर पर प्रभावित करने के अलावा बारिश और बाढ़ के कारण क्षेत्र पर बहुत प्रभाव पड़ेगा। जिसकी आबादी करीब चार अरब है।

रिपोर्ट के अनुसार, तापमान में वृद्धी होन से मौसम प्रणाली, कृषि व मत्स्य पालन क्षेत्र, भूमि व समुद्र जैव विविधता, घेरलू तथा क्षेत्रीय सुरक्षा, व्यापार शहरी विकास, प्रवास तथा स्वास्थ्य में भीषण बदलाव होका नजर आएगा। 

बता दे कि दक्षिण भारत में चावल के उत्पादन में साल 2030 तक पांच फीसदी, 2050 तक 14.5 फीसदी तथा 2080 तक 17 फीसदी की कमी आएगी। यहां तापमान में एक डिग्री से अधिक की बढ़ोतरी होगी। पीआईके में प्रोफेसर तथा निदेशक हंस जोअचिम शेह्लनहुबर ने कहा है कि पृथ्वी का भविष्य एशियाई देशों के हाथ में है।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
thirteen crore indians likely to be displaced due to floods till 2050 says survey

-Tags:#India#Report#Flood#Rain
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo