Breaking News
Top

डोकलाम विवाद: जिनपिंग और डोभाल के बीच हुई ये बातें

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 29 2017 1:50PM IST
डोकलाम विवाद: जिनपिंग और डोभाल के बीच हुई ये बातें

डोकलाम में भारत और चीन के बीच पिछले 2 महीनों से लगातार तनातनी जारी है। भारत को उम्मीद थी की ब्रिक्स देशों की राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों की बैठक में अजीत डोभाल इस मामले में चीन से इस गतिरोध का हल निकालने की बात करेंगे लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

 
हालांकि इस बारे में बात तो हुई पर इसका हल न निकल सका। चीन डोकलाम को लेकर भारत को बहुत सी धमकियां दे चुका है। इस साल के अंत तक चीन की कम्युनिस्ट पार्टी का एक अहम सम्मेलन होना है और पार्टी में एक धड़ा ऐसा भी है जो सैन्य संघर्ष के रास्के डोकलाम विवाद का हल निकालने की मांग कर रहा है।
 
 
1 अगस्त को पीपल्स लिबरेशन आर्मी के 90 साल पूरे हो रहे हैं और चीन इस तारीख से पहले भारत को डोकलाम से बाहर निकालना चाहता है। एक तरफ पूर्वी चीन सागर क्षेत्र में  जिन द्वीपों को लेकर पेइचिंग का जापान के साथ विवाद है, उनपर उसने एयर फ्लाइट कंट्रोल जोन लागू कर दिया है। 

 
तो दूसरी ओर साउथ चाइना सी के विवादित हिस्सों में कृत्रिम द्वीफों का निर्माण कराने के कारण अमेरिका भी चीन से नाराज है। ऐसे में चीन पर काफी आंतर्राष्ट्रीय दबाव है लेकिन इसके बाद भी चीन की ओर से गतिरोध जारी है लेकिन भारत भी डोकलाम पर चीन को हावी नहीं होने दे रहा है।
 
सरकार को कम्युनिस्ट पार्टी के अंदर मौजूद युद्ध समर्थकों से भी निपटना है। पार्टी का ये धड़ा भारतीय सैनिकों को जबरदस्ती डोकलाम से निकाले जाने की मांग कर रहा है। गौरतलब है कि उत्तर कोरिया से लगी अपनी सीमा पर भी तीन के सामने जोखिम की स्थिती है। चीन ने यहां अपनी सैन्य मौजूदगी बढ़ा दी है।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
the meet of ajit doval and xi jinping in china at brics meeting proved to be of no use

-Tags:#Ajit Doval#Ajit Doval In China
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo