Top

'सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश देकर क्या उसे थाईलैंड बना दें?'

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 14 2017 2:05PM IST
'सबरीमाला मंदिर में महिलाओं को प्रवेश देकर क्या उसे थाईलैंड बना दें?'
केरल के सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश का मुद्दा एक बार फिर उठा है। इसे लेकर त्रावणकोर देवस्वामी बोर्ड के अध्यक्ष पी. गोपालकृषण ने एक विवादित बयान दिया है। 
 
गोपालकृषण ने कहा कि मंदिर में महिलाओं को प्रवेश देकर इसे थाईलैंड बनाने की कोशिश न हो। अगर महिलाओं को यहां प्रवेश दिया गया तो मंदिर एक टूरिस्ट केंद्र बन जाएगा। गोपालकृष्ण ने कहा कि 10 साल से 50 साल तक की महिलाएं कठिन मौसम में बिना किसी सुरक्षा के पहाड़ों पर चढ़ेंगी? क्या हम इसे थाईलैंड बना दें?

 
गोपालकृष्ण ने आगे कहा की हमारी महिलाओं से कोई व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं है बस इन्ही कुछ कारणों से हम महिलाओं के प्रवेश के खिलाफ हैं। सुप्रीम कोर्ट महिलाओं को प्रवेश की अनुमति भले दे दे लेकिन हमें पूरा भरोसा है कि कोई सम्मानित परिवार ऐसा नहीं करेगा।
 
गोपालकृष्ण के इस बयान की काफी आलोचना हो रही है। केरल के मंत्री के. सुरेंद्रन ने कहा कि गोपालकृष्ण ने इस तरह की टिप्पणी महिला समुदाय और भगवान अय्याप के भक्तों का अपमान है और उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।  
 
 
गौरतलब है कि इंडिया यंग लायर्स एसोसिएशन ने उच्चतम न्यायालय में याचिका दर्ज कर सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश पर रोक को लिंग आधारित भेदभाव बताया है और इसे निरस्त करने की मांग की है। सुप्रीम कोर्ट ने यह मामला संविधान पीठ को भेज दिया।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
tdb saod should sabrimala mandir be made thailand by letting women enter

-Tags:#TDB#Sabrimala temple#kerela

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo