Top

सुप्रीम कोर्ट से जेपी इन्फ्राटेक को राहत, NCLT के फैसले पर लगाई रोक

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 4 2017 1:08PM IST
सुप्रीम कोर्ट से जेपी इन्फ्राटेक को राहत, NCLT के फैसले पर लगाई रोक

सुप्रीम कोर्ट ने नैशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल के उस फैसले पर रोक लगा दी है जिसमें उन्होंने जेपी इन्फ्राटेक को दिवालिया घोषित किया था।

गौरतलब है कि 10 अगस्त को देश के मशहूर जेपी बिल्डर को नैशनल कंपनी लॉ ट्राइब्यूनल (NCLT) ने दिवालिया घोषित कर दिया था। जेपी बिल्डर पर 8,365 करोड़ का कर्ज था। 32 हजार लोगों के फ्लैट्स निर्माणाधीन है।

इसे भी पढ़ें: खुशखबरी: 72 हजार लोगों को मिलेगा फ्लैट!

काफी समय से जेपी बिल्डर्स के खिलाफ लोग लगातार प्रदर्शन कर रहे थे, क्योंकि उनकी किश्तें पूरी होने के बाद भी उन्हें फ्लैट्स नहीं दिए गए थे।

17 अप्रैल को निवशकों के कई साल के आंदोलन के बाद कंपनी और इसके बड़े अधिकारियों के केस दर्ज किया गया था। यह मामला जेपी के नोएडा में 'मेगा हाउसिंग प्रॉजेक्ट' के 32 हजार फ्लैट्स से जुड़ा है। 

इसे भी पढ़ें: ये है जेपी बिल्‍डर की पूरी कहानी, कौन-कौन से फ्लैट अब नहीं बनेंगे

शिकायतकर्ताओं में 225 बायर्स के नाम हैं, जिन्होंने धोखाधड़ी, फाइनेंशल फ्रॉड और आपराधिक षड्यंत्र के तहत मामला दर्ज कराया था। एफआईआर में 2007 से 2013 तक की जांच को आधार बनाया गया है।

इसी दौरान 'विश टाउन' में फ्लैट्स बेचे गए थे। तब से अब तक 32 हजार में से सिर्फ 5 हजार फ्लैट्स ही 'विश टाउन' में दिए जा सके हैं।

एफआईआर में धारा 420 (धोखाधड़ी), 406 (आपराधिक विश्वासघात), 467, 468, 471 (जालसाजी) और 120 बी (आपराधिक षड्यंत्र) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
supreme sourt stays the allahabad nclt order declaring jaypee as insolvent

-Tags:#Supreme Court#NCLT#National Company Law Tribunal#Jaypee Group#jaypee infratech#amrapali group#jp builder

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo