हरियाणा

सूखे के बाद अब तेज हवाएं कर रहीं हैं किसानों को बर्बाद

By haribhoomi.com | Feb 26, 2017 |
farmer
फरीदाबाद. पिछले तीन दिनों से चल रही तेज हवाओं ने किसानों के चेहरों की हवाइयां उड़ा दी है। अब किसान सिर्फ भगवान से हवाओं के रुकने की दुआएं ही मांग रहा है। तेज हवाओं की वजह से 25 फीसदी तक के फसल का नुकसान होने का अनुमान लगाया जा रहा है।

आपको बता दें कि फसल की बुआई के वक्त इंद्र देवता किसान पर कुछ ज्यादा ही मेहरबान रहे थे, इस कारण किसानों को फसल में पानी देने के पैसे बच गए थे। बता दें कि बुआई के वक्त और बीच में बारिश होने से किसानों के चेहरों पर अलग ही रौनक देखने को मिल रही थी। किसान से लेकर आम आदमी तक इस बात को लेकर काफी उत्साहित था कि बंपर फसल होने से उनके खाली जेबों में पैसे की कोई कमी नहीं रहेगी लेकिन जो सोचा जाता है वह अक्सर होते नहीं है।

बता दें कि तेज हवाओं के चलने से और फसल के लोटने से दाना के छोटा होने की आशंका व्यक्त की जा रही है। बताया जाता है कि तेज हवा के चलते वक्त अगर किसान फसल को पानी देता है तो फसल में मैज लग जाती है और फसल में पानी न लगाया जाए तो फिर दाना छोटा रह जाता है और गोला नहीं बन पाता है। छोटा दाना छरने में ही निकल जाता है जिससे किसान को काफी नुकसान पहुंचता है। लोटे हुए फसल को कम्बाइन क्या मजदूर भी नहीं काट पाते हैं। कम्बाइन से अगर फसल कटवाया जाए तो कम्बाइन के ब्लेड नीचे करवाए जाते हैं, जिससे ब्लेडों के टूटने का खतरा ज्यादा रहता है और ऐसी स्थिति में कम्बाइन मालिक को बहुत नुकसान उठाना पड़ता है।

बता दें कि इस स्थिति में कम्बाइन मालिक भी किसान से फसल को काटने के एवज में दो गुना पैसे की वसूली करते हैं। लोटी हुई फसल को काटने से मजदूर तक अपने हाथ खड़े कर देते हैं। बता दें कि सही फसल को काटने में अगर मजदूर को चार दिहाड़ी लगते हैं तो लोटी हुई फसल को काटने में मजदूर को आठ दिहाड़ी लगती है। तेज हवाओं के चलने से तो गेंहू के फसल को नुकसान तो हो ही रहा है। साथ ही सरसों के फसल को भी भारी क्षति पहुंच रही है।

वहीं इस मुद्दे पर किसान धन सिंह डागर ने बताया कि किसान कि किस्मत में तो रोना ही लिखा होता है। अगर फसल किसी तरह बंपर हो जाए तो उस पर ओले, हवा और बारिश की मार पड़ती है। उन्होंने कहा कि अगर इन तीनों मारों से किसान बच भी जाए तो फिर उन्हें बाजार में आढ़ती की मार पड़ जाता है।

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • CUWOW
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो दें गोविंदा

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो ...

    फिल्म का बजट 22 करोड़ था लेकिन फिल्म ने दो दिनों में 50 लाख का कलेक्शन किया है।

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' सिनेमाघरों में हुई सुस्त, जानिए कितने कमाए

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमें अनुष्का एक फ्रेंडली भूत बनी हैं।