भोपाल

बिना भेदभाव के रोड से हटाए जाएं सभी धर्मस्थल: उच्च न्यायालय

By haribhoomi.com | Mar 08, 2017 |
mandir
इंदौर. मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय ने इंदौर की एक व्यस्त सडक को चौडा करने में बाधक सभी धर्मस्थलों को महीने भर के भीतर बगैर किसी भेदभाव के एक साथ हटाये जाने का आदेश दिया है। इन धार्मिक स्थलों में मंदिर और मस्जिद, दोनों शामिल हैं। 
 
* उच्च न्यायालय की इंदौर पीठ के न्यायमूर्ति एससी शर्मा ने कनाडिया रोड स्थित मस्जिद हनफी अनवारुल उलूम कमेटी के प्रमुख निसार मोहम्मद (82) की दायर याचिका पर कल सात मार्च को कहा कि हमारा देश धर्मनिरपेक्ष है और (विकास में बाधक) अलग-अलग धर्मस्थलों को हटाने में किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए।
 
* पीठ ने कहा कि इस बाबत निर्देश दिया जाता है कि कनाडिया रोड के सभी बाधक धर्मस्थलों को एक साथ हटा दिया जाए। इस काम के लिए एक महीने का वक्त दिया जाता है।
 
* एकल पीठ ने पुलिस को निर्देश दिया कि वह नगर निगम द्वारा कनाडिया रोड पर सभी संबंधित धर्मस्थलों को हटाए जाने का अभियान चलाने के दौरान पर्याप्त बल की तैनाती सुनिश्चित करे। 
 
* अदालत ने कहा कि नगर निगम कनाडिया रोड को चौडा करने में बाधक निजी और सरकारी संपत्तियों को पहले ही हटा चुका है। लिहाजा इस विकास कार्य में बाधक सभी धर्मस्थलों को निश्चित तौर पर हटाया जाना चाहिए।
 
* एकल पीठ ने मामले में अगली सुनवाई के लिये 10 अप्रैल की तारीख तय की और आदेश दिया कि इस दिनांक को उसकेे आदेश की अनुपालन रिपोर्ट पेश की जाए। 
 
* नगर निगम के आयुक्त मनीष सिंह ने कल अदालत में खुद हाजिर होकर बताया कि कनाडिया रोड पर बंगाली चौराहे से पत्रकार चौराहेे के बीच कुछ धार्मिक स्थल सड़क चौड़ी करने की राह में बाधक बने हुए हैं।
 
* सिंह ने कहा कि सड़क चौडी न होने से यातायात जाम होता है और बडी संख्या में हादसे होेते हैं। लिहाजा सड़क को चौडा करने के लिये सभी बाधक धार्मिक स्थलों को हटाया जाना समय की मांग है।
 
* याचिकाकर्ता मस्जिद हनफी अनवारुल उलूम कमेटी की ओर से अदालत में कहा गया कि कनाडिया रोड की यह मस्जिद वक्फ से ताल्लुक रखती है और सड़क चौड़ी करने के लिए इस धार्मिक इमारत को हटाया नहीं जा सकता।
 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • UFAWH
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    फिल्म समीक्षा: ये वो अनारकली है जो खुद गाती है और दूसरों की बजाती है

    फिल्म समीक्षा: ये वो अनारकली है जो खुद ...

    अनारकली में स्वरा की दमदार एक्टिंग फिल्म की यूएसपी है।

    फिल्म समीक्षा: 'फिल्लौरी' देखकर आप करने लगेंगे भूतों से प्यार

    फिल्म समीक्षा: 'फिल्लौरी' देखकर आप करने ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है।

    दर्शकों को लोटपोट कर देने वालों ने छोड़ा शो, सेलेब्रिटिज ने किया कपिल के शो में आने से मना

    दर्शकों को लोटपोट कर देने वालों ने ...

    बॉलीवुड सेलेब्रिटी भी कपिल के शो का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं।