Hari Bhoomi Logo
गुरुवार, सितम्बर 21, 2017  
Breaking News
कोलकता वनडे: भारत ने जीता टॉस, किया बल्लेबाजी का फैसलाजम्मू कश्मीर: पुलवामा जिले के त्राल में पुलिस पर ग्रेनेड से हमला, 3 नागरिकों की मौतअरुण जेटली ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- भ्रष्टाचार गुजरे जमाने की बात, GST से महंगाई काबू मेंसुनंदा पुष्कर केस में 8 हफ्ते में चार्जशीट दायर करे दिल्ली पुलिस : हाईकोर्टजम्मू कश्मीर के अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान ने फिर तोड़ा सीजफायर का उल्लंघनटाइम्स स्क्वायर पर बोले राहुल गांधी- असहिष्णुता से बिगड़ी भारत की छविदुर्गा पूजा और मुहर्रम पर आज आएगा कलकत्ता हाईकोर्ट का फैसला, कल लगाई थी ममता सरकार को फटकारआज कमल हासन से मिलेंगे केजरीवाल, राजनीतिक भविष्य पर होगा फैसला
Top

श्रीलंका और चीन के बीच बड़ी डील फाइनल, भारत परेशान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 29 2017 4:03PM IST
श्रीलंका और चीन के बीच बड़ी डील फाइनल, भारत परेशान

श्रीलंका और चीन में हंबनटोटा बंदरगाह को लेकर काफी महत्वपूर्ण डील फाइनल हुई है। बता दें कि, हंबनटोटा बंदरगाह युद्ध की द्रष्टि से काफी महत्वपूर्ण बंदरगाह है। 

चीन ने इस डील के लिए श्रीलंका को 1.12 बिलियन डॉलर (72 अरब रुपये) दिए। इस सौदे के बाद श्रीलंका ने इस बंदरगाह की 70 फीसदी हिस्सेदारी 99 साल के लीज़ पर चीन को सौंप दी।

इसे भी पढ़ें: अमित शाह के लखनऊ पहुंचते ही SP के 3 और BSP का एक विकेट गिरा

ये डील श्रीलंका पोर्ट अथॉरिटी और चाइना मर्चेंट्स पोर्ट होल्डिंग्स (CMPort) के बीच हुई है। बता दें कि श्रीलंका ने इस बंदरगाह के निर्माण के लिए काफी ज्यादा लोन ले लिया था, जिसको चुकता करने के लिए उसे चीन के साथ ये सौदा करना पड़ा। 

श्रीलंका और चीन के बीच हुए भारत शशंकित है क्यों कि भारत का दक्षिणी छोर समुद्र मार्ग के जरिए श्रीलंका से लगा हुआ है। लेकिन सबसे ख़ास बात ये है कि इस बंदरगाह की सुरक्षा की जिम्मेदारी भारतीय नौसेना पर ही है। 

भारत की चिंता को देखते हुए श्रीलंका के बंदरगाह मंत्री महिंदा समरसिंघे ने कहा कि किसी भी विदेशी नौसेना को बंदरगाह पर बेस बनाने की इजाजत नहीं दी जाएगी। इसी वजह से चीनी सेना को भी यहां बेस बनाने की इजाजत नहीं मिलेगी।

इसे भी पढ़ें: VIDEO: कोई भी मुसलमान 'वंदे मातरम' कभी नहीं गाएगा: अबु आजमी

श्रीलंका और चीन के बीच हुई इस डील के सिलसिले में श्रीलंका के प्रधानमंत्री विक्रमसिंघे ने कहा कि ये डील हमारे देश के लिए एक फायदे का सौदा साबित हो रही है और इससे हमारा कर्ज भी कम होगा।

उन्होंने बताया कि बंदरगाह की 70 फ़ीसदी हिस्सेदारी चीन को देने से जो पैसा हाथ आयेगा, उसे चीन का कर्ज चुकाने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
sri lanka confirm deal with china and give 70 percent stakes of hambantota port

-Tags:#India News#China News#Sri Lanka News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo