खेल

दादा को मिली जान से मारने की धमकी, मिली बेनाम चिट्ठी

By haribhoomi.com | Jan 10, 2017 |
ganguly
नई दिल्‍ली. टीम इंडिया के पूर्व कप्‍तान और कैब के अध्‍यक्ष सौरव गांगुली को जान से मारने की धमकी मिली है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, गांगुली ने इस बात की पुष्टि की है कि उन्‍हें किसी ने (अज्ञात शख्‍स) जान से मारने की धमकी दी है।
 
समाचार एजेंसी टीओआई की रिपोर्ट के मुताबिक, सौरव गांगुली ने बताया कि बीते पांच जनवरी को उन्हें एक बेनामी चिट्ठी मिली थी, जिसमें यह धमकी दी गयी थी। इसमें कहा गया है कि 19 जनवरी को पश्चिम मेदिनीपुर के विद्यासागर यूनिवर्सिटी में होने वाले खेल के कार्यक्रम में वह शामिल होंगे तो वह वापस नहीं लौट पाएंगे। दरअसल, गांगुली को 5 जनवरी की सुबह उनके घर के बाहर एक चिट्ठी मिली, जिसमें लिखा था कि यदि वे मिदनापुर आए तो जिंदा लौटकर नहीं जाएंगे।
 
बता दें कि धमकी किसी जेड. अली नाम के अनजान शख्‍स से मिली है। उसने पत्र में आरोप लगाया है कि किसी आशीष चक्रवर्ती नाम के शख्‍स ने मिदनापुर में धोखाधड़ी की है तो अगर महाराज (सौरव) आशीष को प्रमोट करने मिदनापुर आते हैं तो वे उन्‍हें मार देंगे। आशीष चक्रवर्ती क्रिकेट एसोसिएशन ऑफ बंगाल में मिदनापुर का प्रतिनिधित्‍व करते हैं।
 
सोमवार को सौरव ने एसोसिएशन की वर्किंग कमेटी की बैठक की अध्‍यक्षता करने के बाद कहा कि मुझे 19 जनवरी को बिद्यासागर यूनिवर्सिटी में होने वाले जिला खेल कार्यक्रम के लिए मिदनापुर जाना था। लेकिन मुझे सुरक्षा कारणों से वहां न जाने को कहा गया है। मैंने पूरे मामले की जानकारी पुलिस अधिकारियों को दे दी है। वे जरूरी कदम उठा रहे हैं।
 
कोलकाता के प्रिंस सौरव ने अपने क्रिकेट कॅरियर में इंदौर के योगदान को अहम बताया। उन्होंने कहा कि इंदौर के नेहरू स्टेडियम में पहली बार अंडर-15 क्रिकेट टीम कैम्प में हिस्सा लिया था। इसकी याद आज भी मेरे जेहन में हैं। उन्होंने हॉल में उपस्थित विजेता व उपविजेता खिलाडिय़ों को बधाई देकर आगे बढऩे की सीख दी। 

खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-

  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • XUHRV
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।

    स्‍थानीय खबरें

    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    सर्जिकल स्ट्राइक बनी 'हिन्द का नापाक को जवाब' का टीजर रिलीज

    सर्जिकल स्ट्राइक बनी 'हिन्द का नापाक को ...

    यह फिल्म अगले महीने रिलीज होगी।

    इरफान की 'हिंदी मीडियम' का पोस्टर रिलीज, विवाद होना लगभग तय

    इरफान की 'हिंदी मीडियम' का पोस्टर ...

    यह फिल्‍म 12 मई को रिलीज होगी।

    मैं देशभक्त हूं और राष्ट्रप्रेम मेरी रग-रग में बसा है: शाहरुख खान

    मैं देशभक्त हूं और राष्ट्रप्रेम मेरी ...

    शाहरुख खान ने कहा कि मैं भी इस देश का एक अच्छा नागरिक हूं।