धर्म

यह एकादशी दिलाती है सभी पापों से मुक्ति

By haribhoomi.com | Mar 21, 2017 |
papmochani

नई दिल्ली. चैत्र मास में आने वाली की कृष्ण पक्ष की इस एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है। इस बार यह एकदादशी 24 मार्च को है। यह एकादशी सभी तरह के पापों से मुक्ति दिलाती है। इस दिन सूर्योदय काल में स्नान करके व्रत का संकल्प करें। 

ये भी पढ़ें- यहूदी धर्म के इन 5 रिवाजों को जानकर हैरान रह जाएंगे आप

इस दिन भगवान विष्णु को अर्ध्य दान देकर षोडशोतपचार पूजा करनी चाहिए। इस दिन निंदित कर्म तथा मिथ्या भाषण नहीं करना चाहिए। इस दिन ब्राह्मणों को भोजन दान देना फलदायी होता है। इस व्रत के करने से समस्त पापों का नाश होता है और सुख-समृद्धि प्राप्त होती है।

ये है कथा
प्राचीन काल में चैत्ररथ नामक अति रमणीक वन था। इस वन में च्यवन ऋषि के पुत्र मेधावी नामक नामक ऋषि तपस्या करते थे। इसी वन में देवराज इंद्र गंधर्व कन्याओं, अप्सराओं तथा देवताओं सहित स्वच्छन्द विहार करते थे। ऋषि शिव भक्त तथा अप्सराएं शिवद्रोही कामदेव की अनुचरी थी।
 
एक समय की बात है कामदेव ने मेधावी मुनि की तपस्या को भंग करने के लिए मंजुघोषा नामक अप्सरा को भेजा। उसने अपने नृत्य-गान और हाव-भाव से ऋषि का ध्यान भंग किया। अप्सरा के हाव-भाव और नृत्य गान से ऋषि उस पर मोहित हो गए। दोनों ने अनेक वर्ष साथ-साथ गुजारे।
 
एक दिन जब मंजुघोषा ने जाने के लिए आज्ञा मांगी तो ऋषि को आत्मज्ञान हुआ। उन्होंने समय की गणना की तो उन्हें पता चला कि 57 वर्ष बीत चुके थे। ऋषि को अपनी तपस्या भंग होने का अहसास हुआ। उन्होंने अपने को रसातल में पहुंचाने का एकमात्र कारण मंजुघोषा को समझकर, क्रोधित होकर उसे पिशाचनी होने का शाप दिया।
 
शाप सुनकर मंजुघोषा कांपने लगी और ऋषि के चरणों में गिर पड़ी। कांपते हुए उसने मुक्ति का उपाय पूछा। बहुत अनुनय-विनय करने पर ऋषि का हृदय पसीज गया।
 
 
उन्होंने कहा- 'यदि तुम चैत्र कृष्ण 'पापमोचनी एकादशी' का विधिपूर्वक व्रत करो तो इसके करने से तुम्हारे पाप और शाप समाप्त हो जाएंगे और तुम पुन: अपने पूर्व रूप को प्राप्त करोगी।' इस तरह मंजुघोषा को मुक्ति का विधान बताकर मेधावी ऋषि अपने पिता महर्षि च्यवन के पास पहुंचे।
 
शाप की बात सुनकर च्यवन ऋषि ने कहा-'पुत्र यह तुमने अच्छा नहीं किया। शाप देकर तुमने भी स्वयं भी पाप कमाया है। अत: तुम भी पापमोचनी एकादशी का व्रत करो। इस प्रकार पापमोचनी एकादशी का व्रत करके मंजुघोषा ने शाप से तथा ऋषि मेधावी ने पाप से मुक्ति पाई।
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • ADVAK
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    फिल्म समीक्षा: ये वो अनारकली है जो खुद गाती है और दूसरों की बजाती है

    फिल्म समीक्षा: ये वो अनारकली है जो खुद ...

    अनारकली में स्वरा की दमदार एक्टिंग फिल्म की यूएसपी है।

    फिल्म समीक्षा: 'फिल्लौरी' देखकर आप करने लगेंगे भूतों से प्यार

    फिल्म समीक्षा: 'फिल्लौरी' देखकर आप करने ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है।

    दर्शकों को लोटपोट कर देने वालों ने छोड़ा शो, सेलेब्रिटिज ने किया कपिल के शो में आने से मना

    दर्शकों को लोटपोट कर देने वालों ने ...

    बॉलीवुड सेलेब्रिटी भी कपिल के शो का हिस्सा नहीं बनना चाहते हैं।