धर्म

हाथ पर जरूर बांधना चाहिए कलावा, होते हैं कई फायदे

By haribhoomi.com | Mar 15, 2017 |
reason

नई दिल्ली. अक्सर पूजा-पाठ के दौरान पंडित हाथ में मौली या कहें कि कलावा बांधते हैं। लेकिन इसे क्यों बांधा जाता है शायद ही इसके बारे में कोई जानता हो।

लेकिन हिंदू धर्म का ऐसा कोई धार्मिक नहीं है जिसका कोई वैज्ञानिक तर्क न हो। आइए जानते हैं मौली या कलावा बांधने के पीछे की कुछ दिलचस्प बातें।

ये भी पढ़ें- क्या इस कलयुग में गीता में लिखी ये बातें हो जाएंगी सच

वैज्ञानिक कारण
हाथ में बांधने वाला कलावा कोई आम धागा नहीं होता बल्कि यह कच्‍चे सूत से तैयार किया जाता है। यह कई रंगों जैसे, लाल, काला, पीला तथा नारंगी रंगों में होता है। मौली को लोग हाथ, गले, बाजू और कमर पर भी बांधते हैं। इसे हाथों में बांधने से स्‍वास्‍थ्‍य भी अच्छा रहता है।
 
इस बात की भी सलाह दी जाती है कि कलावा बांधने से रक्तचाप, हृदय रोग, मधुमेह और लकवा जैसे गंभीर रोगों से काफी हद तक बचाव होता है।
 
 
धार्मिक कारण
कलावा हमेशा हर संकट में रक्षा करता है। माना जाता है कि कलावा बांधने से भगवान ब्रह्मा, विष्णु व महेश तथा तीनों देवियों- लक्ष्मी, मां पार्वती और सरस्वती की कृपा प्राप्त होती है। इसी के साथ हर रंग के कलावे का अपना ही महत्व होता है।
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर- 
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • VCUGX
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो दें गोविंदा

    ऐसा झटका, कहीं अपना मानसिक संतुलन न खो ...

    फिल्म का बजट 22 करोड़ था लेकिन फिल्म ने दो दिनों में 50 लाख का कलेक्शन किया है।

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं देशद्रोही, फिल्मों में बजावा रहे हैं मौला-मौला

    सिंगर अभिजीत ने कहा- तीनों खान हैं ...

    अभिजीत ने आगे कहा कि शिरीष जान बूझकर सिर्फ हिन्दुओं को ही टार्गेट करते हैं।

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' सिनेमाघरों में हुई सुस्त, जानिए कितने कमाए

    अनुष्का शर्मा की फिल्म 'फिल्लौरी' ...

    फिल्लौरी एक रोमांटिक कॉमेडी फिल्म है जिसमें अनुष्का एक फ्रेंडली भूत बनी हैं।