Hari Bhoomi Logo
सोमवार, सितम्बर 25, 2017  
Breaking News
Top

पुतिन ने BRICS देशों से की यह डिमांड, भारत के लिए बढ़ा सिरदर्द!

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Sep 2 2017 10:40AM IST
पुतिन ने BRICS देशों से की यह डिमांड, भारत के लिए बढ़ा सिरदर्द!

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने ब्रिक्स सदस्य देशों को अंतर्राष्ट्रीय मल्टीनेशनल कंपनियों की प्रतिबंध लगाने वाली पॉलिसी के खिलाफ खड़ा होने के लिए कहा है। ब्रिक्स देशों में भारत, चीन, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, चीन और रूस शामिल है। 

इसे भी पढ़ें- रूस: ब्लू व्हेल गेम ऑपरेट करने वाली लड़की गिरफ्तार, ऐसे बनाती थी शिकार

पुतिन ने यह बात रविवार को होने वाले BRICS सम्मेलन से पहले पीपल्स डेली ऑनलाइन से कही है।

उन्होंने यह भी कहा कि 'रूस की इस पहल का मकसद बेहतर प्रतियोगिता के लिए BRICS देशों की एकाधिकार-विरोधी एजेंसियों के बीच सहयोग को बढ़ावा देने वाले प्रभावशाली तंत्र का निर्माण करना है।

हमारा उद्देश्य प्रतिबंधित व्यापारिक कार्यों के खिलाफ काम करने के लिए सहयोगी उपायों का पैकेज तैयार करना है।

दूसरी ओर भारत-चीन के लिए पुतिन की अपील चुनौती बन सकती है। जो रोज मल्टीनेशनल कंपनियों से डील करती हैं।

भारत की आईटी कंपनियां बहुराष्ट्रीय कंपनियों के साथ हुए समझौतों पर काफी ज्यादा निर्भर करती हैं। इनमें अधिकतर कंपनियां या तो चीन की हैं या इनमें चीनी कंपनियों का निवेश शामिल है।

साथ ही चीन नए बाजार की तलाश और नई तकनीक के लिए अपनी कंपनियों को पश्चिमी कंपनियों को खरीदने के लिए प्रोत्साहित कर रहा है।

आलोचकों का कहना है कि कुछ पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर लगाए गए प्रतिबंधों की वजह से पुतिन ऐसे बयान दे रहे हैं।

इससे रूसी कंपनियों के लिए वैश्विक स्तर पर प्रभावशाली काम करने में मुश्किल पैदा हो रही है। 

इसे भी पढ़ें- भारतवंशी जेवाई पिल्लै बने सिंगापुर के अंतरिम राष्ट्रपति

पुतिन ने कहा कि रूस ग्लोबल इन्फॉर्मेशन सिक्यॉरिटी के क्षेत्र में ब्रिक्स देशों के बीच इस बात को बढ़ावा देना है।  

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
putin s stand against action mnc s companies

-Tags:#Vladimir Putin#BRICS Conference
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo