Breaking News
प्रतिनिधिमंडल के साथ दो दिवसीय दौरे पर भारत पहुंचे नीदरलैंड के PM मार्क रुट, पीएम मोदी के साथ करेंगे बैठकPM मोदी ने क्रिकेटर विराट कोहली का फिटनेस चैलेंज किया स्वीकार, लिखा- चैलेंज स्वीकार जल्द शेयर करुंगा वीडियोपेट्रोल-डीजल के दामों में 11वें दिन भी जारी बढ़ोत्तरी, पेट्रोल 30 पैसा और डीजल 19 पैसा हुआ मंहगा10वीं दिन भी पाक की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन, नौशेरा सेक्टर में 1 घायललगातार हार से कांग्रेस में फंड का टोटा, AICC ने प्रदेश कमेटी के ऑफिस का खर्चा-पानी बंद कियाझारखंड को मिलेगी 27000 करोड़ की सौगात, 25 मई को पीएम मोदी करेंगे शिलान्यासRSS का राहुल गांधी पर तीखा हमला, कहा- खोई जमीन वापस पाने के लिए समाज को बांटने की कोशिशRBSE 12th Science Result 2018: राजस्थान बोर्ड ने साइंस और कॅामर्स का रिजल्ट किया जारी
Top

प्रद्युम्न हत्याकांड: मासूम की मौत के एक महीने बाद हरियाणा सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Oct 12 2017 11:27AM IST
प्रद्युम्न हत्याकांड: मासूम की मौत के एक महीने बाद हरियाणा सरकार ने उठाया ये बड़ा कदम

रेयान इंटनेशनल स्कूल में सात साल के मासूम प्रद्युम्न ठाकुर की हत्या के बाद हरियाणा सरकार निजी स्कूलों की नियमावली को लेकर सख्त नजर आ रही है। हरियाणा सरकार अब इसके लिए बड़ा कदम उठाने जा रही है।

दरअसल हरियाणा सरकार स्कूल शिक्षा नियमावली 2003 एक्ट में संशोधन का पूरा ब्लूप्रिंट तैयार कर चुकी है। 23 अक्टूबर से शुरू होने वाले विधानसभा सत्र में इस ड्राफ्ट को पेश किया जाएगा। कहा जा रहा है कि इसके बाद ये एक्ट प्रभावी हो जाएगा। 
 

क्या है 2003 एक्ट
 
इस एक्ट में एस.डी.एम और डी.ई.ओ स्तर के अफसरों को स्कूलों में निरीक्षण का अधिकार दिया जाएगा। इसके साथ ही स्कूलों में बच्चों की सुरक्षा को लेकर कई कड़े नियम बनाए जाएंगे। शिक्षा विभाग के उच्चाधिकारियों ने कहा कि इस एक्ट के प्रभावी होने के बाद निजी स्कूलों में बच्चों के साथ होने वाले हादसे कम हो जाएंगे।
 
इसके साथ ही स्कूलों में ली जाने वाली मोटी फीस और अन्य मामलों में सरकार का हस्तक्षेप होगा। एक्ट के तहत निरीक्षण के लिए पैनल तैयार किया जाएगा जिसमें स्कूल की प्रिंसिपल, एक शिक्षक, मैनेजमेंट पादाधिकारी और अभिभावक संघ का एक व्यक्ति मौजूद रहेंगे।
 
निरीक्षण के बाद इसकी ऑनलाइन रिपोर्ट शिक्षा विभाग को ऑनलाइन सौंपी जाएगी। इसके बाद अगर जरूरी रहा तो शिक्षा विभाग के अफसर इसकी जांच-पड़ताल करेंगे। इस एक्ट में बने नियमों का पालन स्कूल द्वारा अगर नहीं किया जाता है तो स्कूलों को भारी जुर्माना भरना पड़ सकता है।
 
 
इसके साथ ही एक्ट के तहत गरीब बच्चों का दाखिला और दूसरी समस्याओं का अधिकार शिक्षा विभाग के पास होगा। गौरतलब है कि रेयान इंटरनेशनल स्कूल में प्रद्युम्न की हत्या होने के बाद स्कूल को हरियाणा सरकार के अधीन ले लिया गया था और अब ये अवधि एक और महीने के लिए बढ़ाई जा सकती है। 
 
 

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
prayuman murder case haryana government step stricten rules of private schools

-Tags:#Pradyuman Thakur#Ryan International School#Haryana Government

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo