Hari Bhoomi Logo
रविवार, सितम्बर 24, 2017  
Breaking News
बीएचयू कैंपस के अंदर पहुंची पुलिस, छात्रों का हंगामा हुआ तेजबीएचयू: छात्र प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस नेता पी.एल पुनिया, राज बब्बर और अजय राय को पुलिस ने रोकादिल्ली तक पहुंची बीएचयू की आग, यूथ कांग्रेस ने जमकर किया प्रदर्शनदिल्ली तक पहुंची बीएचयू की आग, यूथ कांग्रेस ने जमकर किया प्रदर्शनप्रद्युम्न मर्डर केस: आरोपी ड्राइवर अशोक को 14 दिनों की न्यायिक हिरासतलखनऊ: सोमवार सुबह 11 बजे मुलायम सिंह यादव करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंसबीएचयू: छात्राओं ने किया छेड़खानी का विरोध, पुलिस ने बरसाई लाठियांजम्मू-कश्मीर के बारामूला स्थित उड़ी सेक्टर में रात से ही सेना और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है
Top

मानसून सत्र: विपक्ष ने राज्यसभा में जमकर किया हंगामा, किसानों के मुद्दे पर चर्चा जारी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Jul 21 2017 12:23PM IST
मानसून सत्र: विपक्ष ने राज्यसभा में जमकर किया हंगामा, किसानों के मुद्दे पर चर्चा जारी

17 जुलाई से शुरू हुए संसद के मानसून सत्र में विपक्षी दलों की लामबंदी के साथ सरकार को घेरने की तैयारियों को देखते हुए खासकर राज्यसभा में केंद्र सरकार की आज भी मुश्किलें बढ़ सकती हैं। 

राज्यसभा में पहले से ही दर्जनभर महत्वपूर्ण विधेयक लंबित है, जिनमें सरकार के नए बिलों के लोकसभा से पारित होने के बाद उच्च सदन में ऐसे विधेयकों की संख्या में इजाफा होना तय माना जा रहा है।

इसे भी पढ़ें- किसानों के मुद्दे के बीच सांसदों को याद आई अपनी सैलरी

संसद के मानसून सत्र में पेश किये जाने वाले वाले कुल 34 विधेयकों में सरकार 16 नए विधेयक पेश करने का एजेंडा पहले ही घोषित कर चुकी है। सरकार जिस भारी भरकम कामकाज के साथ संसद में आ रही है उसे अंजाम देना सरकार के लिए आसान नहीं होगा। 

खासकर राज्यसभा में अल्पमत में होने के कारण सत्ताधारी दल के खिलाफ विभिन्न मुद्दों को लेकर सरकार को घेरने का ऐलान कर चुके विपक्ष अड़ंगेबाजी कर सकता है।

सरकार के मानसून सत्र के लिए जारी एजेंडे के अनुसार उच्च सदन में पहले से नौ विधेयक लंबित पड़े हुए हैं, जिनमें देश की परिवहन व्यवस्था में बदलाव वाले लोकसभा से पारित नया मोटर वाहन अधिनियम (संशोधन) विधेयक को राज्यसभा में पारित करना मुश्किल डगर होगा। 

इसे भी पढ़ें- संसद कैंटीन की दाल में निकली मकड़ी, केंद्रीय मंत्री ने दिए जांच के आदेश

इसी प्रकार मोदी सरकार पहली बार देश के अन्य पिछड़ा वर्ग के हित में राष्ट्रीय अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले विधेयक को बजट सत्र में लोकसभा में विपक्षी दलों के समर्थन से पास करा चुकी है, लेकिन राज्यसभा में कांग्रेस व अन्य विपक्षी दलों की मांग पर इसे राज्यसभा की प्रवर समिति के सुपुर्द कर दिया गया था।

इन विधेयकों पर लगनी है मुहर

इसी प्रकार लोकसभा से मुहर लगने के बावजूद राज्यसभा में अटके हुए व्हिसल ब्लोअर संरक्षण (संशोधन) विधेयक, फुटवियर डिजाइन एंड डेवलेपमेंट विधेयक, भ्रष्टाचार निरोधक(संशोधन) विधेयक, नागरिक (संशोधन) विधेयक, नावधिकरण समुद्री दावा की अधिकारिता और निपटारा विधेयक, फैक्ट्री (संशोधन) विधेयक, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, विज्ञान शिक्षा और अनुसंधान (द्वितीय संशोधन) विधेयक, संविधान (एक सौ और तीस तीसवां संशोधन) विधेयक और आंकड़े (संशोधन) विधेयक जैसे विधेयक विपक्षी दलों के कारण पारित करना टेढ़ी खीर होगी। 

जहां तक नए विधेयकों का सवाल है उन्हें केंद्र सरकार के लिए लोकसभा से पारित करना कोई मुश्किल काम नहीं है। लेकिन सरकार के लिए राज्यसभा में इन्हें पारित करना आसान नहीं होगा।

11:46AM

 सदन में हंगाने के बाद विपक्षी पार्टियों ने जमकर नारेबाजी की, जिसके बाद सदन को स्थगित कर दिया गया है 

11:20AM

 समाजवादी पार्टी के नेता नरेश अग्रवाल पर राज्यसभा में चर्चा चल रही है

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
parliament monsoon session rajyasabha loksabha debate on farmers issues in india

-Tags:#Monsoon Session 2017#Parliament Of India#Parliament Debate#Narendra Modi
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo