Hari Bhoomi Logo
बुधवार, अप्रैल 26, 2017  
Top

लोकसेवा दिवस पर बोले पीएम मोदी- अफसरों को गृहिणियों से काफी कुछ सीखने की जरूरत

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Apr 21 2017 5:24PM IST
लोकसेवा दिवस पर बोले पीएम मोदी- अफसरों को गृहिणियों से काफी कुछ सीखने की जरूरत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसेवक दिवस पर नौकरशाहों से कहा कि एक नियामक होने के नाते हमें सक्षम बनाने वाली इकाई बनने की आवश्यकता है। भारत में पदानुक्रम अभी भी एक मुद्दा है, यह हमें ब्रिटिश शासन से विरासत में मिला है जिसे हमने अभी भी छोडा नहीं है।

मोदी ने नौकरशाहों से कहा, 'हमारा अनुभव एक बोझ नहीं बनना चाहिए। सुधारों को लेकर राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी उनमें नहीं है। आप आपस में समन्वय बढ़ाते हुए और एकसाथ मिलकर काम करें और बदलाव लाएं।' 

लोकसेवा दिवस के अवसर पर नौकरशाहों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, 'अब समय आ गया है कि कुछ हटकर सोचा जाए और सरकार एक नियामक की जगह सक्षम बनाने वाली इकाई के तौर पर सामने आए। 

उन्होंने कहा, ‘राजनीतिक इच्छाशक्ति सुधार ला सकती है लेकिन अफसरशाही का काम और जनता की भागीदारी बदलाव ला सकती है। हमें इन सबको एकसाथ लाना होगा।' प्रधानमंत्री ने कहा, ‘सुधार के लिए राजनीतिक इच्छाशक्ति जरूरी है। मुझमें इसकी कमी नहीं है बल्कि थोड़ी ज्यादा ही है।'

मोदी ने कहा कि अफसरों को गृहणियों से काफी कुछ सीखने की जरूरत है, वह किस तरह परेशानियों के बावजूद सभी चीजों को मैनेज करती है। मोदी ने कहा, 'वरिष्ठ अधिकारियों को इस बात का आत्मनिरीक्षण करना चाहिए कि क्या उनका अनुभव एक बोझ बनता जा रहा है? हमें अपने अनुभव को बोझ नहीं बनने देना चाहिए। 

उन्होंने कहा कि अफसरशाही में पदक्रम एक समस्या है, जो कि औपनिवेशिक शासकों से आई है और ‘उसे मसूरी (जहां लोकसेवा अकादमी स्थित है) में छोड़कर नहीं आया जाता।' 

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार की भूमिका बहुत प्रबल है लेकिन पिछले 15 साल में चीजें बदल गई हैं। उन्होंने लोकसेवकों से जनता तक पहुंचकर उसके कल्याण के लिए सोशल मीडिया, ई-गवर्नेंस और मोबाइल गवर्नेंस का इस्तेमाल करने के लिए भी कहा।

officers needed to learn a lot from the housewives said pm narendra modi on lokseva diwas
-Tags:#Narendra Modi
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo