Breaking News
Top

भारत को धार्मिक आधार पर नहीं बांटा जाना चाहिए: ओबामा

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Dec 2 2017 3:49PM IST
भारत को धार्मिक आधार पर नहीं बांटा जाना चाहिए: ओबामा

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा दिल्ली में शुक्रवार पीएम मोदी से मुलाकात की। इस दौरान बराक ओबामा ने कहा कि उन्होंने पीएम मोदी से कहा था कि भारत को किसी भी स्थिति में सांप्रदायिक आधार पर नहीं बांटा जाना चाहिए।

बराक ओबामा ने इस बात पर जोर दिया कि भारतीय समाज को इस बात को सहेज कर रखने की जरूरत है। क्योंकि यहां के मुसलमान अपनी पहचान भारतीय के तौर पर बनाए हुए हैं।

बराक ओबामा ने हिंदुस्तान टाइम्स लीडरशिप शिखर सम्मेलन में में कहा कि यह एक विचार है जिसे सुद्दढ़ किए जाने की जरूरत है। बराक ओबामा ने सम्मेलन में कहा कि 'एक देश को सांप्रदायिक आधार पर विभाजित नहीं किया जाना चाहिए और ऐसा मैने पीएम मोदी से व्यक्तिगत तौर पर व अमेरिका के लोगों से कहा।

यह भी पढ़ें- कांग्रेस के पास पीएम मोदी से लड़ने की कोई रणनीति और ताकत नहीं: ओवैसी

बराक ओबामा ने कहा कि आज के समय में लोग अपने बीच के अंतर को बहुत स्पष्ट तौर पर देखते हैं लेकिन अपने बीच की समानता को भूल जाते हैं। उन्होंने कहा कि समानता हमेशा लिंग पर आधारित होती है और हमें इस पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।

बराक ओबामा ने कहा कि लोकतंत्र में सबसे प्रमुख पद राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री का पद नहीं है, बल्कि नागरिकों का पद है। बराक ओबामा ने कहा, आप अगर किसी भी नेता को कुछ भी ऐसे करते देखते हैं जो सही नहीं है, तब आप अपने आप से पूछिए 'क्या मैं इसका समर्थन करता हूं?

उन्होंने कहा कि नेता उन दर्पणों की तरह होते हैं जिनसे सामुदायिक सोच प्रतिबिंबित होती है। बराक ओबामा ने संबोधन और उसके बाद सवाल जवाब सत्र के दौरान कई विषयों पर अपने विचार रखे।

यह भी पढ़ें- राहुल गांधी ने पीएम मोदी से किया ये चौथा सवाल, पिछले तीन का भी नहीं मिला जवाब

उन्होंने इस दौरान पीएण मोदी और पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के साथ अपने संबंधों, आतंकवाद, पाकिस्तान, ओसामा बिन लादेन की तलाश और भारतीय दाल और कीमा पसंद करने के बारे में बात की।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo