Top

चेक बंद होने को लेकर अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने जताई शंका

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 17 2017 12:43PM IST
चेक बंद होने को लेकर अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ ने जताई शंका

अखिल भारतीय व्यापारी परिसंघ सीएआईटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि सरकार जल्द ही चेकबुक को बंद कर सकती है। संस्था के मुताबिक आने वाले समय में चेक पेमेंट पर रोक लगाने के लिए चेकबुक को बंद कर सकती है। ऐसा डिजिटल ट्रांजैक्शन को बढ़ावा देने के लिए किया जाएगा।

सीएआईटी के जनरल सेक्रेटरी प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि सरकार चाहती है कि लोग क्रेडिट और डेबिट कार्ड के माध्यम से पेमेंट करें, केंद्र डिजिटल लेनदेन को बढ़ावा देने के लिए भविष्य में चेक बुक सुविधा वापस ले सकती है। 

यह भी पढ़ें- पाकिस्तान, चीन के अलावा बांग्लादेश से भी है देश की सुरक्षा को खतरा: अहीर

प्रवीण खंडेलवाल 'डिजिटल रथ' के शुभारंभ में पत्रकारों से बात कर रहे थे, इस दौरान उन्होंने कहा व्यापारियों को डिजिटल लेनदेन के विभिन्न तरीकों को अपनाने और कैशलेस अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। 

उन्होंने बताया कि सरकार 25000 करोड़ रुपए सिर्फ नोटों की छपाई पर खर्च करती है और 6000 करोड़ रुपए उन नोटों की सुरक्षा पर खर्च किए जाते हैं। ऐसे में कैशलेश इकॉनोमी से सरकार का ये खर्च कम होगा।

यह भी पढ़ें- गुजरात चुनाव: हार्दिक पटेल को एक और झटका, चिराग पटेल बीजेपी में शामिल

इसके अलावा, बैंक डेबिट कार्ड के माध्यम से भुगतान पर 1% और क्रेडिट कार्ड के जरिए 2% शुल्क लेते हैं। सरकार को बैंक को सीधे सब्सिडी प्रदान करके इस प्रक्रिया को प्रोत्साहन देने की आवश्यकता है ताकि ये शुल्क माफ कर दिया जा सके।

उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि देशभर में 80 करोड़ एटीएम कार्ड हैं, लेकिन मात्र 5 प्रतिशत कार्ड का इस्तेमाल डिजिटल ट्रांजेकिशन के लिए होता है, जबकि 95 फीसदी एटीएम कार्ड सिर्फ कैश निकालने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं। उन्होंने लोगों से भी डिजिटल इंडिया को बढ़ावा देने की अपील की।

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
next big move by modi bank cheque facility may be withdrawn to push digital transactions says cait official

-Tags:#Cheque Payment#Digital Banking#Bank#Cait#Digital Transaction
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo