Hari Bhoomi Logo
मंगलवार, सितम्बर 19, 2017  
Breaking News
Top

ये है जेपी बिल्‍डर की पूरी कहानी, कौन-कौन से फ्लैट अब नहीं बनेंगे

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Aug 10 2017 6:08PM IST
ये है जेपी बिल्‍डर की पूरी कहानी, कौन-कौन से फ्लैट अब नहीं बनेंगे
नोएडा के नामी-गिरामी बिल्डर जेपी इंफ्राटेक के दिवालिया घोषित किए जाने के बाद इनके दिल्ली एनसीआर में बन रहे 32000 संकट में फंस गए हैं। खास बात ये है कि इनमें ज्यादातर फ्लैट लोगों ने पहले ही खरीद रखे हैं। ऐसे में अब इन फ्लैट खरीदने वालों के साथ क्या होगा, यह साफ नहीं हुआ है।
 
कंपनी की आधिकारिक वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक जेपी इंफ्राटेक के प्रोजेक्ट दिल्ली एनसीआर समेत, पुणे, मुंबई में भी काम चल रहा है।
 
आम आदमी के नजरिए से देखें तो कंपनी प्रतिष्ठित थी। रीयल स्टेट संबंधी कई सारे प्रमाण भी इनकी वेबसाइट पर दिख रहे हैं। ऐसे कोई इस तरह की विपत्ति आने वाली शायद ही किसी आम ग्राहक को इसका अंदाजा हो।
 
इतना ही नहीं साल 2015 में कंपनी के डायरेक्टर शुभम जैन को कई सारी रीयल स्टेट एजेंसियों ने यंग अचीवर्स अवार्ड भी दिया था। 
 
जेपी ज्यादातर अपार्टमेंट, विला बनाता है। तमाम प्रोजेक्ट देखने से पता चलता है कि जेपी ने आम आदमी को रिझाने के लिए अधिकर फ्लैट 2बीएचके और 3बीएचके बना रखे हैं, जिनकी औसत मूल्य 4,905.01 प्रति स्वायर फीट है।
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
nclt classifies jaypee infra as insolvent read full profile

-Tags:#JP Infratech
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo