Breaking News
Top

'अखिलेश के नरेश' भाजपा में शामिल, सपा को जया का प्रेम पड़ा भारी

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Mar 12 2018 4:31PM IST
'अखिलेश के नरेश' भाजपा में शामिल, सपा को जया का प्रेम पड़ा भारी

समाजवादी पार्टी के नेता नरेश चंद्र अग्रवाल भाजपा में शामिल हो गए हैं। नरेश अग्रवाल उत्तर प्रदेश राज्य का प्रतिनिधित्व करते थे और समाजवादी पार्टी नामक यूपी-आधारित राजनीतिक दल के सदस्य थे और हरदोई विधानसभा से सात विधानसभा सदस्य थे।

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने हैं। समाजवादी पार्टी ने नरेश अग्रवाल और किरणमय नंदा को राज्यसभा का टिकट नहीं दिया था। सपा ने अपने दिग्गज नेताओं को दरकिनार करते हुए जया बच्चन को दोबारा से राज्यसभा भेजने का फैसला किया, जिससे नाराज नरेश ने भाजपा का दामन थाम लिया है।

इसे भी पढ़ें: राहुल गांधी का मोदी सरकार पर अब तक का सबसे बड़ा वार, जेटली की बेटी पर उठाए सवाल

जया बच्चन राज्यसभा नामांकन

गौरतलब है कि बॉलीवुड अदाकारा जया बच्चन ने आगामी राज्यसभा चुनाव के लिये आज समाजवादी पार्टी (सपा) प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल किया। जया ने राज्य विधानभवन के सेंट्रल हॉल में नामांकन दाखिल किया। इस दौरान उनके साथ सपा प्रमुख अखिलेश यादव की पत्नी सांसद डिम्पल यादव, सपा उपाध्यक्ष किरण मय नंदा, सपा राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चैधरी तथा कारोबारी सुब्रत राय सहारा भी मौजूद थे।

इसे भी पढ़ें: राज्यसभा के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली ने भरा नामांकन, कांग्रेस ने उतारे उम्मीदवार

जया बच्चन ने खुद को बताया सीनियर

वर्तमान में भी सपा की राज्यसभा सदस्य जया ने बाद में संवाददाताओं से बातचीत में कहा कि मैं अपनी उम्मीदवारी के लिये मुलायम सिंह यादव जी, पार्टी के सभी विधायकों और विधान परिषद सदस्यों को धन्यवाद देती हूं। मालूम हो कि जया का कार्यकाल दो अप्रैल को समाप्त हो रहा है। इस सवाल पर कि सपा ने किरण मय नंदा और नरेश अग्रवाल जैसे वरिष्ठ नेताओं की जगह उन्हें राज्यसभा का टिकट दिया, जया ने कहा कि मैं भी सीनियर हूं।

इसे भी पढ़ें: शमी-हसीन जहां जैसी पत्नी की बेवफाई जब बॉलीवुड में आई, तो हिट हो गई ये 5 फिल्में

उत्तर प्रदेश विधानसभा

मालूम हो कि उत्तर प्रदेश में राज्यसभा की 10 सीटों के लिये आगामी 23 मार्च को मतदान होगा। प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा और उसके सहयोगी दलों के वर्तमान सदस्यों की संख्या 324 है। सपा के पास 47 , बसपा के पास 19, कांग्रेस के पास सात और राष्ट्रीय लोकदल के पास एक विधायक है।

इसे भी पढ़ें: ढिंचैक पूजा का MMS सोशल मीडिया पर हुआ वायरल, इसे देख हो जाएंगे हैरान

राज्यसभा चुनाव

करीब दो साल पहले हुए राज्यसभा चुनाव के वक्त उत्तर प्रदेश में सपा स्पष्ट बहुमत के साथ सत्तारूढ़ थी और अपने संख्याबल के बूते उसने छह सीटें जीत ली थीं, लेकिन इस बार वह अपने एक उम्मीदवार को ही जिता सकेगी। एक राज्यसभा सदस्य को जीतने के लिये कम से कम 37 विधायकों के वोट की जरूरत होगी।

ADS

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )

ADS

ADS

मुख्य खबरें

ADS

ADS

ADS

ADS

Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo