Hari Bhoomi Logo
शुक्रवार, जुलाई 28, 2017  
Top

मानसून सत्र: इन बिल पर लगेगी सरकार की मुहर, बरपेगा हंगामा!

ओ.पी. पाल/नई दिल्ली | UPDATED Jul 16 2017 7:35PM IST
मानसून सत्र: इन बिल पर लगेगी सरकार की मुहर, बरपेगा हंगामा!

संसदीय कार्य मामलों के मंत्रालय के प्रवक्ता ने बताया है कि संसद सत्र आरंभ होने से पूर्व केंद्र सरकार की ओर से संसद के दोनों सदनों में महत्वपूर्ण कामकाज और कानूनों को अंजाम देने के लिए आपसी सहमति बनाने के इरादे से सर्वदलीय बैठक बुलाई गई है। इसके बाद इसी दिन लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी शाम को सर्वदलीय बैठक बुलाई है।

इसे भी पढ़ें: GST के लिए आधी रात को बुलाया जाएगा पार्लियामेंट सेशन

हालांकि मोदी सरकार कई राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों को लेकर विपक्ष के निशाने पर है, जिसके कारण विपक्ष संसद में सरकार को घेरने के इरादे से लामबंदी कर चुका है, लेकिन सरकार भी विपक्ष को माकूल जवाब देने के इरादे से सदन में आएगी। मंत्रालय के अनुसार मानसून सत्र के लिए सरकार सर्वदलीय बैठक के बाद एजेंडे को अंतिम रूप देगी।

सोमवार से शुरू हो रहे संसद के मानसून सत्र के दौरान केंद्र सरकार की प्राथमिकता में देशहित के महत्वपूर्ण विधेयक होंगे। शायद यही कारण है कि पहले दिन के एजेंडे में लोकसभा से पारित नया मोटरयान विधेयक समेत तीन और लोकसभा में दो नए बिलों के साथ बच्चों की नि:शुल्क और अनिवार्य शिक्षा अधिकार (संशोधन) विधेयक समेत चार विधेयकों को पेश करने का एजेंडा रखा है।

इसे भी पढ़ें: ऐतिहासिक रहा संसद का सत्र, पास हुए कई महत्तवपूर्ण बिल

केंद्र सरकार 17 जुलाई से 11 अगस्त तक चलने वाले संसद के मानसून सत्र में बजट सत्र में लंबित महत्वपूर्ण कामकाज को निपटाने के अलावा राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सामयिक मामलों के संबन्ध में संसद का समर्थन हासिल करके कानूनों में संशोधन करके कुछ महत्वपूर्ण विधेयकों को आगे बढ़ाने के मकसद से संसद में आने का प्रयास कर रही है।

ऐसे कामकाज में बजट सत्र में लटके रहे कुछ महत्वपूर्ण विधेयकों को सरकार मानसून सत्र के पहले सप्ताह में ही आगे बढ़ाने का प्रयास करेगी। सरकार की प्राथमिकता में नमामि गंगे मिशन और जल संबन्धी मामलों को कानूनी दायरे में लाने वाले गंगा कानून को भी मानसून सत्र में पेश करने का प्रयास होगा,

इसे भी पढ़ें: अंगूठा लाओ और रशन ले जाओ

वहीं श्रम मंत्रालय जीएसटी की तर्ज पर देशभर में एक समान मजदूरी सुनिश्चित करने के लिए पुराने चार श्रम वेतन कानूनों को खत्म करके नया कानून बनाने वाला विधेयक भी पेश किया जा सकता है।

हालांकि इन दोनों विधेयकों के मसौदे को अभी केंद्रीय कैबिनेट की मंजूरी मिलना बाकी है। इसके अलावा संसद के दोनों सदनों में कई महत्वपूर्ण ऐसे विधेयक लंबित हैं जो एक-दूसरे सदन से पारित हो चुके हैं।

(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
monsoon session of parliament 2017 opposition set to raise heat

-Tags:#Monsoon Session 2017#President Election 2017#Narendra Modi#Parliament House
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo