Breaking News
Top

महिला मुक्केबाज मैरी कॉम ने सुनाई अपने 5वें गोल्ड मेडल जीतने की संघर्ष से भरी दास्तान

टीम डिजिटल/हरिभूमि, दिल्ली | UPDATED Nov 8 2017 8:45PM IST
महिला मुक्केबाज मैरी कॉम ने सुनाई अपने 5वें गोल्ड मेडल  जीतने की संघर्ष से भरी दास्तान

भारत की मशहूर महिला मुक्केबाज एमसी मैरी कॉम ने एक और स्वर्ण पदक हासिल कर अपने करियर और देश के लिए बड़ी उपलब्धि हासिल की है। खास बात यह है कि मैरी कॉम ने आज जो इतिहास रचा है, इससे वह एशियाई चैम्पियनशिप में 5 पदक जीतने वाली पहली महिला बॉक्सर बन गई हैं।        

यह भी पढ़ें: रघुराम राजन हो सकते हैं 'आप' के राज्‍यसभा प्रत्याशी, कुमार विश्वास का कटेगा पत्ता!

सभी पदकों के पीछे संघर्ष की कहानियां 

35 वर्षीय मैरी कॉम इससे बेहद उत्साहित हैं। यह गोल्ड मैडल उनके लिए बहुत अहमियत रखता है। न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए इंटरव्यू में उन्होंने बताया, 'यह गोल्ड मैडल मेरे बहुत खास है। वैसे मेरे सभी पदकों के पीछे संघर्ष की कहानियां हैं।'

पढ़ें: मायावती बोलीं, नोटबंदी ने खोले हैं भ्रष्टाचार के नए द्वार, 'भाजपा एंड कंपनी' उठा रही फायदा

सांसद बनने के बाद यह मैडल है अहम

5 बार की विश्व चैम्पियन और ओलंपिक कांस्य पदक विनर मैरी कॉम ने कहा, 'मेरे हर पदक के पीछे कोई नया ही संघर्ष रहा है। मुझे आशा है कि राज्यसभा सांसद बनने के बाद मिला यह मैडल मेरी प्रतिष्ठा में और इजाफा करेगा।'

यह भी पढ़ें: प्रदूषण की मार: मनीष सिसोदिया ने किया दिल्ली के सभी स्कूलों को बंद करने का ऐलान

पिछले साल हर क्षेत्र में रही थीं बिजी 

तीन बच्चों की मां मैरी कॉम सांसद होने के साथ भारत में मुक्केबाजी की सरकारी पर्यवेक्षक भी हैं। पिछले साल वह काफी बिजी भी रही थीं। इसके बावजूद उन्होंने गोल्ड हासिल किया है। यह अपने आप में बड़ी उपलब्धि है। 

यह भी पढ़ें: यूपी निकाय चुनाव: एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा का नाम बरेली में वोटर लिस्ट से आउट

संसद भी जा रही हूं  बतौर एक्टिव सांसद 

खेल के साथ अपने सियासी सफर के बारे में वह कहती हैं, 'मैं एक्टिव सांसद हूं। लगातार संसद भी जा रही हूं। इसके साथ ही मैंने चैम्पियनशिप के लिए कड़ी तैयारी भी की। सरकारी पर्यवेक्षक होने के नाते भी मैंने बैठकों में भाग लिया। मेरा संघर्ष लगातार जारी है।'

पढ़ें: नोटबंदी का एक साल: भाजपा ने कांग्रेस पर तेज किए हमले, गिनाए नोटबंदी के फायदे

लाइफ में कई भूमिकाएं अदा कर रही हूं

मैरी कॉम ने आगे कहा, 'मैं अपनी लाइफ में कई भूमिकाएं अदा कर रही हूं। बतौर मां मुझे अपने तीन बच्चों को भी देखना होता है। हालांकि मुझे नहीं मालूम यह सब मैं कैसे कर लेती हूं।'

यह भी पढ़ें: आम आदमी पार्टी ने निकाली अर्थव्यवस्था की अर्थी, केजरीवाल मौन

अब मुझे सफर करने से नफरत हो गई है

अपने भविष्ट के बारे में मैरी कॉम कहती हैं, 'मुझे एशियाई चैम्पियनशिप के बाद आईओसी एथलीट फोरम में शरीक होने के लिए लुसाने रवाना होना है। सच कहूं तो अब मुझे सफर करने से नफरत हो गई है। मैं खुद को थका महसूस करती हूं। लेकिन आप अपनी जिम्मेदारियों से नहीं भाग सकते।'        

यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी बोलीं, गुजरात में नैतिक रूप से हार गई है भाजपा

 
(हमसे जुड़े रहने के लिए आप हमें फेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं )
mc mary kom narrated her struggling story for winning asian championships gold medal

-Tags:#MC mary Kom#Asian Championships#Boxing#Sports News
मुख्य खबरें
Copyright @ 2017 Haribhoomi. All Right Reserved
Designed & Developed by 4C Plus Logo