रिलेशनशिप

आखिर क्यों एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड बनाती हैं लड़कियां

By haribhoomi.com | Jan 11, 2017 |
why
नई दिल्ली. आमतौर पर एक से अधिक गर्लफ्रेंड बनाने के मामले में लड़के सबसे आगे रहते हैं। लेकिन एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड बनाने में लड़कियां भी लड़कों से कम नहीं हैं। लड़कों की दूसरी गर्लफ्रेंड बनाने के पीछे कई कारण होते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं आखिर लड़कियां क्यूं बनाती हैं 1 से अधिक ब्वॉयफ्रेंड। चलिए बताते हैं...
 
 
कुछ लोगों का कहना है कि लड़कियों में कॉन्फिडेंस ही नहीं बल्कि उनमें ओवरकॉन्फिडेंस होता है। जिसकी वजह से उन्हें लगता है कि एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड बनाना बेहद आसान है। तो वहीं कुछ लड़कियों का मानना है कि वह खुद की सेफ्टी के लिए एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड बनाती हैं। उन्हें लगता है कि सुरक्षा की दृष्टि से एक पर भरोसा करना काफी मुश्किल है।  कई लड़कियां ऐसी होती हैं जो किसी लड़के के साथ रिलेशन में तो आ जाती हैं लेकिन उसपर ट्रस्ट करना और उनके साथ कंफर्टेबल महसूस करना उनके लिए थोड़ा मुश्किल होता है। जिसकी वजह से वह ऐसा कदम उठाती हैं जिससे उन्हें एक सच्चा और विश्वास करने वाला पार्टनर मिल जाए। 
 
दरअसल, इस बारे में हमने कई तरह के डिफरेंट लोगों से बात की। कुछ लोगों का कहना है कि कुछ लड़कियां अपने ब्वॉयफ्रेंड को लेकर गंभीर तो रहती हैं लेकिन अपनी ख्वाहिशों और अपनी उम्मीदों का भार उसपर थोपना नहीं चाहती हैं, इसलिए वह एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड रखती हैं। तो वहीं कुछ ने कहा कि लड़कियों की डिमांड बहुत अधिक होती है। वह अपनी अलग-अलग डिमांड को अलग-अलग ब्वॉयफ्रेंड से पूरा करवाती हैं। 
 
 
कई बार ब्वॉयफ्रेंड का गलत व्यवहार भी गर्लफ्रेंड को दूसरा ब्वॉयफ्रेंड बनाने पर मजबूर कर देता है। बता दें कि अधिकांश लोगों का एक ही कहना है कि एक लड़का अपनी गर्लफ्रेंड की सारी आवश्यकताओं को पूरा नहीं कर सकता है। अपनी आवश्यकताओं को पूरा कराने के उद्देश्य से ही लड़कियां एक से अधिक ब्वॉयफ्रेंड बनाती हैं। 
 
खबरों की अपडेट पाने के लिए लाइक करें हमारे इस फेसबुक पेज को फेसबुक हरिभूमि, हमें फॉलो करें ट्विटर और पिंटरेस्‍ट पर-
  • Post a comment
  • Name *
  • Email address *

  • Comments *
  • Security Code *
  • UKBGC
  •       
    कमेंट्स कैसे लिखें !
    जिन पाठकों को हिन्दी में टाइप करना आता है, वे युनीकोड मंगल फोंट एक्टिव कर हिन्दी में सीधे टाइप कर सकते हैं। जिन्हें हिन्दी में टाइप करना नहीं आता वे Roman Hindi यानी कीबोर्ड के अंग्रेजी अक्षरों की मदद से भी हिन्दी में टाइप कर सकते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप लिखना चाहें- “भारत डिफेंस कवच एक उपयोगी पोर्टल है’, तो अंग्रेजी कीबोर्ड से टाइप करें, bharat defence kavach ek upyogi portal hai. हर शब्द के बाद स्पेस बार दबाएंगे तो अंग्रेजी का अक्षर हिन्दी में टाइप होता चला जाएगा। यदि आप अंग्रेजी में अपने विचार टाइप करना चाहें तो वह विकल्प भी है।
    Haribhoomi
    Haribhoomi on Social Media
    Happy Birthday: जब कंगना रनौत ने अचार-रोटी खाकर गुजारे दिन

    Happy Birthday: जब कंगना रनौत ने ...

    एक प्ले में कंगना ने मेल-फीमेल दोनों किरदार निभाए थे।

    बिग बॉस फेम स्वामी ओम इस टीवी शो में चाहते हैं 'कपल डांस' करना

    बिग बॉस फेम स्वामी ओम इस टीवी शो में ...

    स्वामी ने नच बलिए टीम से खुद को लेने की डिमांड की है।

    अपनी बनाई पेंटिंग्स बेचना चाहते हैं सलमान खान, कीमत आप जो देना चाहे

    अपनी बनाई पेंटिंग्स बेचना चाहते हैं ...

    सलमान खान काफी अच्छी पेंटिग्स कर लेते हैं।